फोटो---02 व 03 नंबर है। - दुकान नंबर 320 कश्मीरी ट्रेडर्स से शुरू हुई पीआर धान की खरीद, 15.3 प्रतिशत मिली धान में नमी की मात्रा, एमएसपी पर खरीदा गया - डीसी ने जिले की सभी 15 अनाज मंडियों में धान खरीद प्रक्रिया के संदर्भ में ली अधिकारियों की बैठक, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश जागरण संवाददाता, करनाल:

सरकार के निर्देश पर रविवार को करनाल की अनाज मंडी में दोपहर के बाद सरकारी खरीद शुरू हो गई। मार्केट कमेटी सचिव सुंदर सिंह कांबोज ने मंडी प्रधान राजनीश चौधरी की देखरेख में खरीद कार्य को आगे बढ़वाया। उनके साथ खाद्य एवं आपूर्ति विभाग व हैफेड से भी अधिकारी साथ रहे। अनाज मंडी में दुकान नंबर 320 कश्मीरी ट्रेडर्स के पास किसान महेंद्र सिंह की फसल की नमी चेक की। नमी की मात्रा 15.3 प्रतिशत मिली। इसके बाद जो किसान पीआर धान लेकर आया था उसकी डिटेल चेक की गई कि उसने मेरी फसल मेरा-ब्योरा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराया है या नहीं। रजिस्ट्रेशन सही पाए जाने पर किसान का आधार कार्ड लिया गया। इसके बाद सरकारी मानकों पर धान खरी उतरने के बाद उसको एमएसपी पर खरीदा गया। इधर धान खरीद को लेकर डीसी ने ली बैठक, कहा- 15 नवंबर तक होगी धान की खरीद

डीसी निशांत कुमार यादव ने कहा कि इस बार धान खरीद सोमवार 15 नवंबर तक तक चलेगी। मेरी फसल-मेरा ब्योरा पोर्टल पर पीआर धान के लिए पंजीकृत किसान वेबसाइट पर जाकर मंडी में फसल लाने का दिन निर्धारित कर सकता है। इसके लिए किसान को उसके मोबाइल पर एसएमएस प्राप्त होगा। जिसके पश्चात संबंधित मंडी द्वारा किसान को गेट पास जारी किया जाएगा। करनाल जिले की सभी 15 मंडियों में प्रात: 8 से दोपहर 2 बजे तक तथा ढाई बजे से शाम 6 बजे तक खरीद एजेंसियों द्वारा धान की खरीद की जाएगी। डीसी ने बताया कि गेट पास जारी होने के बाद किसान संबंधित आढ़ती के पास जाकर अपनी फसल को बेच सकता है, इसके लिए मंडी में मौके पर आढ़ती, खरीद एजेंसी के निरीक्षक तथा ऑक्शन रिकॉर्डर मौजूद रहेंगे। जो फसल में नमी निर्धारित कर किसान की फसल सरकार द्वारा निर्धारित मूल्य पर बेचने में सहायता करेंगे तथा सभी प्रकार की व्यवस्थाओं पर नजर बनाए रखेंगे। इससे पहले किसान मंडी के गेट पर ही अपनी फसल का वजन करवा सकता है। फसल बेचने के उपरांत आढ़ती द्वारा जे फार्म की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

बैठक में एसपी गंगाराम पुनिया, एडीसी अशोक कुमार बंसल, एसडीएम करनाल आयुष सिन्हा, एसडीएम असंध साहिल गुप्ता, एसडीएम इंद्री सुमित सिहाग, एसडीएम घरौंडा डा. पूजा भारती, डीएफएससी निशांत राठी, हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड के डीएमईओ ईश्वर सिंह राणा, डीआइओ महिपाल सीकरी सहित सभी मंडियों के सचिव तथा खरीद एजेंसियों के अधिकारी उपस्थित रहे। मंडियों में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश

डीसी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि मंडी में किसानों के लिए पीने का पानी तथा शौचालय जैसी मूलभूत सुविधाओं की कमी या अन्य समस्या नहीं आनी चाहिए। मंडियों के गेट पर जाम की स्थिति उत्पन्न न हो, इसके लिए सभी मंडी सचिव मंडी की व्यवस्थाओं पर नजर बनाए रखें। जिला प्रशासन द्वारा सुरक्षा के व्यापक प्रबंध सुनिश्चित किए जा रहे हैं।

-कोरोना से बचाव का रखें इंतजाम

डीसी निशांत कुमार यादव ने सभी मंडी सचिवों को निर्देश दिए कि वैश्विक महामारी कोरोना के चलते फसल खरीद के समय बचाव के सभी जरूरी उपाय सुनिश्चित करें। मंडी में कहीं भी भीड़ न लगने दें। किसानों को मास्क पहनने के लिए जागरूक करें और मंडी गेट पर ही उन्हें मास्क उपलब्ध करवाएं तथा हाथ साफ करने के लिए सैनिटाइजर की व्यवस्था करें। धान के साथ-साथ मक्का व बाजरा की सरकारी खरीद करें सुनिश्चित

उपायुक्त ने यह भी बताया कि सभी 15 मंडियों में होने वाली धान खरीद के साथ-साथ करनाल की मंडी में मक्का व बाजरा की सरकारी खरीद भी सुनिश्चित की जाएगी। घरौंडा अनाज मंडी में भी धान के साथ-साथ बाजरे की सरकारी खरीद की जाएगी। इसके लिए खरीद एजेंसियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दे दिए गए हैं।

Edited By: Jagran