संवाद सहयोगी, असंध : प्रदेश में लगातार बढ़ रही महंगाई से जनता की जेब पर सीधा प्रभाव पड़ रहा है। सरकार जनता के निशाने पर रही है। लेकिन कुछ दिनों बाद पेश होने वाले आम बजट से जनता को राहत मिलने की उम्मीद है। आम बजट पर सभी वर्गो की नजर टिकी हुई है। आम लोग चाहते हैं कि सरकार जनता के लिए बजट में विकास के साथ-साथ महंगाई कम करने की सौगात लेकर आए।

बिगड़ गया घर का बजट : रीना

रीना ने बताया कि महीने में दो बार सिलेंडर रेट बढ़ जाने से 800 रुपये के पार पहुंच गया है। रसोई के बजट पर इसका सीधा असर पड़ा है। सिलेंडर के दाम बढ़ जाने से परेशानी हुई है। रीना ने मांग की कि आम बजट में सरकार राहत देने का काम करे। खाद्य वस्तुओं के दाम पर ध्यान देना जरूरी : नीलम

नीलम ने कहा कि रसोई में प्रयोग होने वाली सभी खाद्य वस्तुओं के दामों में हो रहे इजाफे से घर का सारा बजट बिगड़ रहा है। प्याज ने सभी की आंखों से आंसू निकालने का काम किया है। उन्होंने कहा कि सरकार को जमाखोरी पर रोक लगाकर इसके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए ताकि गृहिणियां अपना घर सही प्रकार चला सकें। बच्चों के जेब खर्च पर पड़ा असर : नीरज

नीरज ने कहा कि नौकरीपेशा लोगों को परिवार चलाने के लिए हर महीने बजट बनाना पड़ता है। रसोई के अलावा बच्चों की पढाई व अन्य सभी चीजों का इंतजाम करना पड़ता है। लेकिन लगातार बढ़ रही महंगाई ने सभी का बजट खराब कर दिया है। इसका असर बचत पर भी पड़ रहा है। महंगाई बन रही मुसीबत : मुकेश

मुकेश ने कहा कि कोरोना काल के बाद पेट्रोल और डीजल की हर रोज बढ़ोतरी ने जनता के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है। रसोई पर सारी कमाई खत्म हो रही है। सरकार ने इस ओर जल्द ध्यान नहीं दिया तो इसका गहरा प्रभाव देखने को मिलेगा। युवाओं के लिए रोजगार जरूरी : राकेश

राकेश शर्मा ने कहा कि जल्द पेश किए जाने वाले आम बजट में हरियाणा के युवाओं के लिए नौकरी पर ध्यान देने की जरूरत है। ताकि बढ़ती बेरोजगारी को कम किया जा सके और विकास की रफ्तार बढ़ाई जा सके। किसानों को राहत दे सरकार : दिलबाग

दिलबाग सिंह लाडी ने कहा कि बजट में किसानों के लिए सरकार को राहत देने का काम करना चाहिए। खेत में प्रयोग होने वाली खाद और दवाइयों के रेटों में लगातार इजाफा हो रहा है। इससे खेती महंगी हो गई है। खेती की तरफ ध्यान देना होगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021