संवाद सूत्र, नि¨सग : बीते कई दिन पूर्व बिजली निगम के एक्सईएन द्वारा सस्पेंड किए गए लाइनमैनों की बहाली को लेकर एचएसईबी वर्कर यूनियन बोर्ड कार्यालय प्रांगण में दो दिनों से धरने पर बैठे हैं।जो लगातार निगम के एक्सईएन व एसडीओ के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कर्मचारियों के प्रति तानाशाही रवैया अपनाने के आरोप लगा रहे हैं। धरने की अध्यक्षता असंध यूनिट सचिव धर्म¨सह ने की। उन्होंने कहा कि एक्सईएन ने गलत तरीके से कर्मचारी को सस्पेंड किया है। महज किसान की मौखिक शिकायत पर कर्मचारी के सस्पेंड करना व आग्रह करने पर भी कर्मचारी का पक्ष नही सुनना अफसरशाही नही तो और क्या है? कर्मचारियों को हटाने की बजाय स्टाफ को पूरा करो। उन्हें तुंरत सामान मुहैया करवाए। फिर शिकायत मिले तो बेशक सस्पेंड कर दो। उन्होंने बोर्ड कर्मचारी को निलंबित करने, जेईई का तबादला करने व कांट्रेक्ट बेस पर लगे कर्मचारियों को हटाने सहित कई अन्य मांगों के विरोध में धरना दिया। इसी दौरान बिजली बोर्ड कार्यालय प्रांगण में केंद्रीय परिषद के आह्वान पर हिसार में निगम अधिकारियों की मिलीभगत से निलंबित कर्मचारियों के विरोध में नौ से 11 बजे तक गेट मी¨टग की गई। सब यूनिट सचिव राजेंद्र ¨सह ने कहा कि यदि तीन दिन में निलंबित कर्मचारियों को ड्यूटी पर नही लिया तो कर्मचारी एक्सईएन कार्यालय के समक्ष धरना देंगे। इस मौके पर मोहर ¨सह, कर्मबीर ¨सह, जो¨गद्र ¨सह, राजेश कुमार, भल्लेराम, सेवा ¨सह, नरेश कुमार व दीनबंधु मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस