संवाद सहयोगी, पिपली : पंचायत समिति थानेसर के चेयरमैन देवीदयाल शर्मा घराड़सी ने कहा है कि सर्वांगीण विकास के लिए खेल शरीर के लिए टॉनिक है। वहीं खेल से शरीर स्वस्थ और मन भी स्वस्थ रहता है। इसके साथ साथ खेल से अनेक बीमारियां शरीर से दूर रहती हैं, इसलिए हमें खेलों को अपने जीवन में अपनाना चाहिए।

वे गांव बाहरी में श्रीराम क्रिकेट क्लब की तरफ से चल रहे क्रिकेट टूर्नामेंट में बतौर मुख्यातिथि खिलाड़ियों का परिचय करने के दौरान संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि खेल हमारे जीवन का अभिन्न अंग हैं। शिक्षा के साथ साथ युवाओं को खेलों में भी जरूर भाग लेना चाहिए। उन्होंने प्रतियोगिता में भाग ले रहे खिलाड़ियों को प्रेरित करते हुए कहा कि खेल को खेल भावना से खेलें, द्वेष की भावना से नहीं। अगर खिलाड़ी अपना शत प्रतिशत खेल में लगाकर खेलें तो लक्ष्य को प्राप्त करना आसान है। उन्होंने कहा कि चहुंमुखी विकास के लिए शिक्षा के साथ साथ खेल भी जरूरी हैं और लक्ष्य निर्धारित कर कोई भी मुकाम हासिल किया जा सकता है। खेल से शरीर में नई ऊर्जा का संचार होता है और शरीर हृष्ट पुष्ट रहता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की मनोहर सरकार ने खेलों को बढ़ावा देने के लिए नई नई योजनाएं लागू की हैं। खिलाड़ी इन योजनाओं के माध्यम से अपना भविष्य संवार सकते हैं। राज्य सरकार ने खेलों में उम्दा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को प्रोत्साहित के तौर पर उन्हें नगद राशि देने के साथ साथ उच्च पदों पर नौकरियां दी गई हैं। उन्होंने प्रतियोगिता में भाग ले रहे खिलाड़ियों के खेल की प्रशंसा करते हुए कहा कि ग्रामीण आंचल के युवाओं में खेल की अपार संभावनाएं हैं। अगर उन्हें अपनी प्रतिभा निखारने का मौका मिले तो वे देश व प्रदेश को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चमकाने का दम रखते हैं। इस मौके पर क्रिकेट क्लब की ओर से चेयरमैन देवीदयाल शर्मा घराड़सी को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। श्रीराम क्रिकेट टूर्नामेंट क्लब के आयोजकों ने प्रतियोगिता में खिलाड़ियों को प्रेरित करने के लिए चेयरमैन का आभार जताया।

Edited By: Jagran