संवाद सूत्र, कुंजपुरा : जमीन के फर्जी कागजों के आधार पर धोखाधड़ी कर लाखों रुपये ऐंठने और धमकी देने का मामला सामने आया है। पुलिस ने पीड़ित व्यक्ति की शिकायत पर उत्तर प्रदेश निवासी एक दर्जन लोगों के खिलाफ विभिन्न आपराधिक धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

पुलिस को दी शिकायत में प्रदीप कुमार वासी सेक्टर-55 बल्लभगढ़ जिला फरीदाबाद ने बताया कि उन्हें खेती के लिए जमीन की तलाश थी। वह इरफान व दिलशाद वासी बजीदपुर तहसील नकुड़ जिला सहारनपुर को पहले से जानते थे। ये दोनों उनके जानकार कई लोगों को पहले जमीन दिलवा चुके हैं। इरफान व दिलशाद ने उन्हें जमीन दिलाने की बात कहते हुए अपने रिश्तेदार बता कर कुछ लोगों से मिलवाया। उन्हें यमुना नदी के साथ लगते गांव कुंडा में जमीन के कागजात भी दिखाए। यह भूमि भौगोलिक तौर पर कुंजपुरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आती है।

दोनों ने जमीन को पूरी तरह पाक साफ बताते हुए जमीन खरीदने का उनका सौदा तय करवा दिया। इस पर उन्होंने 15 नवंबर 2019 को 50 हजार रुपए बतौर पेशगी दे दिए । इसके बाद 28 नवंबर को करनाल कोर्ट में उन्होंने 1 5 लाख रुपए और देकर दोनों पक्षों की सहमति से जमीन का इकरारनामा लिखवाया गया। जमीन की रजिस्ट्री करवाने के लिए 26 मई 2020 का दिन तय किया गया। दिन तय होने के बावजूद निर्धारित समय पर जमीन की रजिस्ट्री नहीं करवाई गई, जिस पर उन्हें कुछ शक हो गया। उन्होंने जांच पड़ताल की तो जमीन के कागजात फर्जी पाए गए। जब उन्होंने अपने पैसे वापस मांगे तो उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई।

पुलिस ने प्रदीप कुमार की शिकायत पर लियाकत, अख्तर, सत्तार, गफ्फार शकील, वकील, मुन्नी, यासीन, जमशेद, यामीन वासी गांव कुंडा तहसील नकुड़ तथा इरफान एवं दिलशाद वासी गांव बजीदपुर तहसील नकुड़ जिला सहारनपुर उत्तरप्रदेश के खिलाफ धोखाधड़ी, साजिश रचने एवं धमकी देने के आरोप में मामला दर्ज किया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप