संवाद सहयोगी, घरौंडा : थाना प्रभारी सचिन कुमार ने कहा कि पराली को आग लगाने की घटनाएं और प्रदूषण में हो रही वृद्धि के कारण न्यायालय ने सख्त हिदायतें जारी की हैं। कोई भी किसान अपने खेतों के फसल अवशेषों में आग ना लगाए। उन्होंने बताया कि फसल अवशेषों में आग लगाने से ना सिर्फ वायु प्रदूषण बढ़ता है बल्कि भूमि की सेहत भी खराब होती है। किसान चोरी छीपे रात के समय फसल अवशेषों में आग लगाता है, ताकि वह पकड़ा ना जाए, लेकिन आगजनी की ऐसी गतिविधियां सेटेलाइट के माध्यम से हरसेक पर साफ देखी जा सकती हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप