जागरण संवाददाता, करनाल

महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा के लिए सरकार की ओर से चलाए कार्यक्रम के तहत गांव रूखसाना का जातिराम जिला समाज कल्याण विभाग से वृद्धावस्था सम्मान भत्ता प्राप्त कर रहा था। पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार जातिराम के विरुद्ध पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज है। इसके चलते उन्हें सरकार से मिलने वाला वृद्धावस्था सम्मान भत्ता बंद कर दिया है। मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए सुधार महिला सुरक्षा कार्यक्रम में जो भी व्यक्ति महिलाओं व बच्चों के साथ यौन उत्पीडन में शामिल होगा, उसकी सरकारी की ओर से मिलने वाली सुविधाएं बंद कर दी जाएंगी। लघु सचिवालय में बुधवार को इस विषय की समीक्षा करते हुए आयोजित बैठक में जिला समाज कल्याण अधिकारी ने डीसी को रिपोर्ट सौंपी। रिपोर्ट के अनुसार पॉक्सो एक्ट में सम्मिलित जातिराम की वृद्धावस्था सम्मान भत्ता बंद कर दिया है। डीसी ने बताया कि सरकार के निर्देशानुसार न्यायालय में महिलाओं व बच्चों के साथ यौन उत्पीड़न से संबंधी अपराध घोषित होने पर संबंधित व्यक्ति का सशस्त्र लाइसेंस, समाज कल्याण विभाग की ओर से दी जाने वाली पेंशन व छात्रवृत्ति और शिक्षा विभाग की ओर से दिए जाने वाले वजीफे बंद किए जाएंगे।

Posted By: Jagran