करनाल, (विज्ञप्ति) : उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने बताया कि हर खेत तक पानी पहुंचाने के लिए सूक्ष्म सिचाई को बढ़ावा दिया जाएगा। इस प्रणाली से किसान के हर खेत को जरूरत के अनुसार पानी मिल सकेगा। इस योजना को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा सरकार 85 प्रतिशत तक अनुदान दे रही है। उपायुक्त ने बताया कि सूक्ष्म सिचाई प्रणाली योजना को गति देने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वीरवार को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से प्रदेश के सभी उपायुक्तों के साथ समीक्षा की और कहा कि सरकार का उद्देश्य है कि हर खेत तक पानी पहुंचे। यह कार्य केवल सूक्ष्म सिचाई प्रणाली के तहत ही हो सकता है। इस प्रणाली के तहत पानी की बचत होगी और खेत को सीधा पानी मिल सकेगा। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने बैठक के माध्यम से निर्देश दिए कि जो भी अधिक पानी है, उसको एकत्रित करके खेतों में सूक्ष्म सिचाई प्रणाली के तहत भेजा जाए। करनाल जिला में सूक्ष्म सिचाई प्रणाली के तहत 5700 एकड़ का लक्ष्य रखा गया है। बागवानी विभाग व सिचाई व कृषि विभाग द्वारा इस प्रणाली को अमलीजामा पहनाना है। जिस क्षेत्र में पहले से सूक्ष्म सिचाई प्रणाली शुरू है, उन खेतों में अधिकारियों को सर्वे के लिए भेजा गया है और जिले में 21 आवेदन सूक्ष्म सिचाई योजना के तहत प्राप्त हुए हैं। इन सभी आवेदनों पर सर्वे किया जाएगा। उपायुक्त ने बताया कि सीएम ने समीक्षा बैठक में परिवार पहचान पत्र की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि जिले में परिवार पहचान पत्र का कार्य लगभग पूरा किया जा रहा है। अतिरिक्त उपायुक्त इस योजना के नोडल बनाए गए हैं। परिवार पहचान पत्र के तहत ही सरकार की सभी योजनाओं का लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले चरण में ऐसे 30 हजार गरीब परिवारों को किसी न किसी रूप में जोड़कर आर्थिक रूप से बढ़ावा देकर समाज की मुख्य धारा में लाया जाएगा। इसके लिए अधिकारी व्यक्तिगत रूप से जाकर उस परिवार की स्थिति का आंकलन करेंगे और यह जानकारी लेंगे कि परिवार को किसी चीज की जरूरत है, उनकी जरूरत को पूरा करके परिवार को आगे बढ़ाया जा सकेगा। इस समय जिले में पीपीपी के माध्यम से परिवार की आय का सत्यापन का कार्य किया जा रहा है जिसे अगले सप्ताह तक पूरा कर लिया जाएगा। इस मौके पर सीइओ जिला परिषद गौरव कुमार, परियेाजना अधिकारी संगीता मेहता, उप निदेशक कृषि डा. आदित्य प्रताप डबास, बागवानी अधिकारी डा. मदन लाल, कार्यकारी अभियंता सिचाई विभाग नवजेत सिंह, अजय चोपड़ा उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran