जागरण संवाददाता, करनाल : मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि चुनाव के दौरान मेरी प्रदेश के 90 विधानसभा क्षेत्र में व्यस्तता रहेगी। इसलिए करनाल विधानसभा क्षेत्र में प्रत्येक कार्यकर्ता अपने आपको मनोहर लाल समझकर चुनावों में सहयोग करें। चुनाव संचालन समिति के सदस्यों ने भी सीएम को आश्वस्त किया कि पिछली से भी ज्यादा इस बार के चुनाव में करनाल की जनता का आशीर्वाद मिलेगा।

सीएम ने मंगलवार को कालीदास रंगशाला में ओबीसी मोर्चा के सम्मेलन के बाद राधा-कृष्ण वाटिका सेक्टर-14 में करनाल विधानसभा चुनाव संचालन समिति की बैठक ली। संचालन समिति के सदस्यों को चुनाव को लेकर जिम्मेदारी सौंपी गई। सीएम ने समिति के सदस्यों को चुनाव में जुटने के लिए आह्वान किया।

इससे पहले सम्मेलन में उन्होंने कहा कि 21 से 28 सितंबर तक पूरे प्रदेश में पार्टी के मोर्चो व प्रकोष्ठों की ओर से कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। जहां भी संभव हो रहा है, वह वहां कार्यक्रम में भाग लेने जाएंगे।

भ्रष्टाचार के खेल में गरीब जनता का नुकसान : उन्होंने कहा कि युग बदल चुका है। भ्रष्टाचार को हर कीमत पर हमें रोकना है। रिश्वत देने वाला और लेने वाला भले ही अपना-अपना काम निकाल लें, लेकिन इस खेल में गरीब जनता को नुकसान होता है। पांच साल के कार्यकाल में भ्रष्टाचार को रोकने की दिशा में गंभीरता से प्रयास हुए। सरकारी योजनाओं का पैसा लाभपात्र तक पहुंचना सुनिश्चित किया गया। भ्रष्टाचार पर नकेल कसने का नतीजा ही रहा कि हर क्षेत्र में टैक्स में इजाफा हुआ। स्टांप ड्यूटी पांच साल में डबल हो गई है।

इस दौरान इंद्री के निवर्तमान विधायक कर्णदेव कांबोज, घरौंडा के हरविद्र कल्याण, असंध के निवर्तमान विधायक बख्शीश सिंह, पूर्व विधायक रमेश कश्यप, मेयर रेनू बाला गुप्ता, प्रदेश महामंत्री एडवोकेट वेदपाल व जिलाध्यक्ष जगमोहन आनंद मौजूद रहे।

चुनाव संचालन समिति का किया गठन

करनाल विधानसभा चुनाव संचालन समिति का गठन भी कर दिया गया। इस 57 सदस्यीय समिति में विधानसभा प्रभारी जंग बहादुर चौहान, विधानसभा संयोजक अशोक सुखीजा, जिलाध्यक्ष जगमोहन आनंद, सांसद संजय भाटिया, मेयर रेणू बाला गुप्ता, पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री आइडी स्वामी, पूर्व मंत्री शशीपाल मेहता, पूर्व जिलाध्यक्ष चंद्रप्रकाश कथूरिया, पूर्व मंत्री जयप्रकाश गुप्ता व पूर्व सीनियर डिप्टी मेयर कृष्ण गर्ग को शामिल किया गया।

इसके साथ ही समिति में पूर्व ओएसडी अमरेंद्र सिंह, निर्मला बैरागी, मुकेश अरोड़ा, मीना कांबोज, अतर सिंह संधू, संतोष अत्रेजा, मेहर सिंह, अशोक भंडारी, भगवानदास अघी, शमशेर नैन एडवोकेट, बलविद्र सिंह कालड़ा, सोनिया पंडित, रजनी परोचा व सुभाष चंद्र सहित 57 पार्टी नेताओं को शामिल किया गया है।

जिलाध्यक्ष जगमोहन आनंद ने बताया कि सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों परामर्शदाता कमेटी और पार्टी के अन्य प्रमुख पदाधिकारियों की भी विधानसभा चुनावों में भूमिका जल्द ही तय कर सूचना जारी कर दी जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप