संवाद सहयोगी, असंध : असंध क्षेत्र के तीन गांवों के डिपो होल्डर द्वारा राशन वितरण में गड़बड़ी के चलते खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने तीन डिपो होल्डरों के डिपो रद किए हैं। वहीं अन्य डिपो होल्डर के स्टाक की जांच भी विभाग द्वारा की जा रही है। लॉकडाउन के दौरान उक्त तीनों डिपो होल्डरों ने राशन वितरण में गड़बड़ी की थी। विभाग की टीम द्वारा की गई जांच के बाद असंध डिपो होल्डर एसोसिएशन के प्रधान रामकुमार जयसिंहपुर सहित लालैन के जगदीश चंद्र और सालवन के मोहित पुंडीर के डिपो रद कर दिए हैं। बता दें कि गांव जयसिंहपुर के डिपो होल्डर और असंध डिपो होल्डर एसोसिएशन के प्रधान रामकुमार द्वारा लॉकडाउन के दौरान मृतकों का राशन निकालकर बेचा गया था। जिस पर पहले तो विभाग ने सप्लाई सस्पेंड कर दी थी। लेकिन जब डिपो होल्डर रामकुमार जयसिंहपुर मृतकों का राशन निकालने बारे विभाग को कोई सबूत नहीं पेश कर पाया तो अब विभाग ने यह कार्रवाई की है। वहीं गांव सालवन के डिपो होल्डर मोहित पुंडीर के डिपो की जांच की गई तो डिपो पर स्टॉक कम पाया गया। जिस पर विभाग ने डिपो को रद किया है। लालैन में लोगों को दिया जाता था कम राशन

गांव लालैन के डिपो होल्डर जगदीश चंद्र की कम राशन देने की शिकायत विभाग को मिली थी। विभाग की टीम ने जांच की तो पता लगा कि कम राशन देने के साथ साथ डिपो होल्डर जगदीश ने बाजरा 2 रुपये से लेकर 8 रुपये प्रति किलो तक बेचा है। वहीं डिपो होल्डर जगदीश चंद्र द्वारा लोगों को कम राशन देने के साथ साथ अभद्र व्यवहार भी किया जाता था। वर्जन

गांव जयसिंहपुर के डिपो होल्डर रामकुमार ने लॉकडाउन के दौरान मृतक व्यक्तियों का राशन निकाला है। जिस बारे में वह कोई सबूत पेश नहीं कर पाया। लालैन के डिपो होल्डर ने बाजरा दो रुपये से लेकर 8 रुपये प्रति किलो बेचा है, जगदीश लोगों को कम राशन देता था। वहीं सालवन के डिपो होल्डर मोहित पुंडीर का स्टॉक कम पाया गया। तीनों के डिपो रद कर दिए हैं।

-निशांत राठी, डीएफएससी, करनाल।

Edited By: Jagran