जागरण संवाददाता, करनाल : कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी के विरोध में सेक्टर 12 पेट्रोल पंप के बाहर धरना दिया। दो घंटे कार्यकर्ता धरने पर डटे रहे। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि सरकार पूंजीपतियों के हाथों में खेल रही है और आम आदमी के हाथों से दाल रोटी छीनने पर तुली है। विधायक शमशेर गोगी व कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव वीरेंद्र राठौर ने केंद्र व प्रदेश सरकार पर निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि सरकार ने पिछले सात साल में पेट्रोल और डीजल पर टैक्स में बार-बार भारी बढ़ोतरी करके पेट्रोल-डीजल की कीमतों को रिकार्ड स्तर पर पहुंचा दिया है। इस सरकार की गलत नीतियों के कारण देश के कई हिस्सों में पेट्रोल की कीमतें आज 100 रुपये प्रति लीटर का आंकड़ा पार कर चुकी हैं और डीजल की कीमतें 100 रुपये प्रति लीटर होने के कगार पर हैं। कांग्रेस नेताओं ने सरकार पर आम जनता को लूटने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल के दाम पिछले पांच महीने में 44 बार बढ़ाए गए। 250 शहरों में पेट्रोल के दाम 100 रुपये से ज्यादा हैं। विधायक शमशेर सिंह गोगी ने कहा कि यूपीए सत्ता में था तो पेट्रोल डीजल पर टैक्स 9.20 रुपये था। अब यह 32 रुपये हो चुका है। पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी पूरी वापस ली जाए। अरूण पंजाबी, राजिद्र बल्ला, मुनीष परवेज राणा, जीतराम कश्यप, इंद्रपाल विर्क, राजकिरण सहगल, करनाल लीगल सैल के चेयरमैन एडवोकेट अमृतलाल, लीगल सैल हरियाणा के उपाध्यक्ष एडवोकेट चांदराम, ललित बुटाना, राजिद्र कल्याण, गोपाल सहोत्रा, नरेश संधु, जोगिद्र चौहान, अनिल शर्मा, निश्चय सोही, चरणदेव कामरा, जतिद्र पांचाल, नरेंद्र जोगा, सूबे सिंह गोंदर, गौरव शर्मा व दिनेश सैन मौजूद रहे।