जागरण संवाददाता, करनाल

डीसी निशांत कुमार बंसत विहार कालोनी में चल रहे विकास कार्यों का निरीक्षण किया और सड़क के निर्माण कार्य में ठेकेदार की लापरवाही पाए जाने पर ठेकेदार को फटकार लगाई और दो टूक कहा किसी भी हालत में विकास कार्यों में घटिया सामग्री का प्रयोग बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने बसंत विहार कालोनी में बन रही सड़कों में प्रयोग होने वाली सामग्री की जांच के लिए अधीक्षक अभियंता रामफल को जिम्मेदारी दी है और सख्त निर्देश दिए कि यदि कहीं भी विकास कार्यों के निर्माण में ठेकेदार व नगर निगम के अधिकारी की मिलीभगत पाई जाती है तो सख्त कार्यवाही की जाएगी। डीसी ने नगर निगम के जेई को निर्देश दिए कि चल रहे विकास कार्यों पर नजर रखें नहीं तो उनके खिलाफ भी सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

डीसी निशांत कुमार यादव ने बुधवार देर शाम करनाल नगर निगम की बसंत विहार कालोनी का रुख किया। उन्होंने यहां बन रही सड़कों एवं गलियों का निरीक्षण कर अधिकारियों एवं ठेकेदारों को कड़े निर्देश दिए। बसंत विहार में गली नंबर 11 के निवासियों की शिकायत थी कि उनके यहां बनी गली में रेत की जगह मिटटी का प्रयोग किया गया है और बरसात के दिनों में यह गली नीचे धंस जाएगी जिसकी वजह से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। डीसी ने इस गली को मौका पर जाकर देखा और ठेकेदार को निर्देश दिए कि इस गली को उखाड़कर मिट्टी की जगह रेता डालकर दोबारा बनाया जाए। उन्होंने पंचायती राज के कार्यकारी अभियंता रामफल को निर्देश दिए कि वे बसंत विहार कालोनी में 15 गलियों एवं अन्य विकास कार्यों का 3 दिन के अंदर-अंदर निरीक्षण करें और यदि किसी गली एवं विकास कार्य में कोई कमी पाई जाती है तो संबंधित ठेकेदार के खिलाफ सख्त कार्यवाही करें।

डीसी निशांत यादव ने बताया कि बसंत विहार कालोनी में बन रही गलियों एवं सड़कों पर लगभग 12 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। उन्होंने कालोनीवासियों को आश्वासन दिया कि गलियों एवं सड़कों में इस्तेमाल होने वाले सामान की क्वालिटी के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने बताया कि बसंत विहार कालोनी में अधिकार कार्य पूरे हो चुके हैं। जो कार्य शेष रह गए है उन्हें भी जल्द पूरा कर दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस