संवाद सहयोगी, असंध : जिले के सबसे बड़े गांव सालवन में बस स्टैंड न होने के कारण यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बस स्टैंड न होने के कारण गांव के अड्डे पर हर समय जाम के हालात बने रहते हैं, जिससे कई बार हादसे भी हो चुके हैं। ग्रामीणों ने सरकार से गांव में बस अड्डा बनाने की मांग की है ताकि यात्रियों को राहत मिल सके।

राहगीर सुरेश, रामफल, जसबीर का कहना है कि करनाल के लिए बसें न होने के कारण ग्रामीणों को असंध होकर करनाल जाना पड़ता है जिससे समय व पैसे की काफी बर्बादी होती है। ग्रामीणों का कहना है कि बड़ा गांव होने के बावजूद गांव में आजतक सरकार के द्वारा बस स्टैंड भी नहीं बनवाया गया। गांव से हर रोज हजारों की संख्या में यात्री सफर करते हैं। बस स्टैंड न होने के कारण बसें असंध पानीपत मार्ग पर खड़ी होती है। जिस कारण गांव के अड्डे पर हर वक्त जाम के हालात बने रहते हैं।

ग्रामीणों का कहना है कि बस स्टैंड न होने से यहां कई बार सड़क हादसे भी हो चुके हैं। लेकिन फिर भी इस तरफ किसी का कोई ध्यान नहीं है। साथ ही ग्रामीणों ने सालवन से वाया मूनक होते हुए करनाल की दो बसें लगाने की मांग भी की है। ग्रामीणों का कहना है कि करनाल के लिए बसें न होने के कारण ग्रामीणों को असंध होकर करनाल जाना पड़ता है जिससे समय व पैसे की काफी बर्बादी होती है।

बस स्टैंड के पास सड़क पर ब्रेकर न होने से बढ़े हादसे

समाजसेवी जयबीर राणा ने कहा कि सालवन बस स्टैंड पर स्कूल के सामने मेन सड़क पर ब्रेकर न होने की वजह से कई बार स्पीड में वाहन चलाने से हादसे हो चुके है। हादसों को रोकने के लिए प्रशासन को सड़क पर ब्रेकर लगवाने चाहिए ताकि हादसे रोके जा सकें। इसके लिए कई बार शिकायत भी की जा चुकी है। ग्रामीणों का कहना है कि ग्राम पंचायत की प्रयासों से गांव में क्यू शेल्टर की सुविधा दी गई, जिससे ग्रामीणों को बरसात के और गर्मी व सर्दी के मौसम में थोड़ी राहत मिली।