संवाद सहयोगी, तरावड़ी : एसएमएस मेमोरियल पब्लिक स्कूल में जन्माष्टमी उत्सव धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम का आयोजन श्रीकृष्ण प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया गया। बच्चों ने स्कूल को मटकी और फूलों से सजाया।

विद्यालय की प्रधानाचार्य डा. विभा कौशिक ने बच्चों और शिक्षकों को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की बधाई दी। उन्होंने बाल गोपाल को झूला झुलाया और भगवान श्रीकृष्ण के जीवन पर प्रकाश डाला। उन्होंने श्रीकृष्ण लीलाओं को बताते हुए उनके जीवन से प्रेरणा लेने के लिए छात्रों को प्रेरित किया। छात्राओं ने भगवान श्रीकृष्ण की लीलाओं पर आधारित गीत प्रस्तुत किए। कक्षा नर्सरी से कक्षा दो तक के बच्चों के लिए फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। सभी बच्चे अपने घरों से श्रीकृष्ण व राधा की ड्रेस में आए। नटखट लड्डू गोपाल की बचपन की शरारतों पर आधारित प्रस्तुतियों ने मन मोह लिया। परिसर में बच्चों ने दही हांडी फोड़कर उत्सव मनाया। प्रबंधक गुरुशरण ग्रेवाल ने जन्माष्टमी की बधाई दी। जन्माष्टमी पर्व आस्था व विश्वास का प्रतीक : चौधरी

संवाद सहयोगी, तरावड़ी : प्रताप पब्लिक स्कूल में भगवान श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर्व धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम का आयोजन विद्यालय के चेयरपर्सन हन्नी चौधरी व निदेशिका पिथी चौधरी ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। नन्हे- मुन्ने छात्र रंग-बिरंगी वेशभूषा में कार्यक्रम में सम्मिलित हुए। विद्यार्थियों ने भगवान श्रीकृष्ण जी और श्री राधा की वेशभूषा धारण की। उत्सव के लिए विद्यालय को सजाया गया। विद्यालय की प्रात: कालीन सभा में बच्चों ने श्री कृष्ण की लीलाओं का वर्णन किया। निदेशक पिथि चौधरी ने बच्चों को जन्माष्टमी के दिन के महत्त्व और श्री कृष्ण जी के युवा दिनों के विभिन्न पहलुओं, दही -हांडी, उत्सव और उनके चंचल स्वभाव के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि यह पर्व आस्था व विश्वास का प्रतीक है। कार्यक्रम का समापन प्रसाद बांटकर किया गया।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट