संवाद सहयोगी, घरौंडा : मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर रजिस्टर्ड धान के गेट पास को लेकर अनाज मंडी में हाहाकार मचा हुआ है। मंडी एसोसिएशन के पदाधिकारियों और मार्केट कमेटी सचिव के बीच लगभग आधा घंटे तक गेट पास को लेकर नोंकझोंक हुई। एसोसिएशन के प्रधान रामलाल गोयल ने अधिकारियों की लापरवाही को लेकर मंडी बंद करने का ऐलान कर दिया। बाद में मंडी सचिव व आढ़तियों ने बैठकर समस्या का समाधान किया। गोयल व अन्य आढ़तियों ने पूरे मामले की शिकायत विधायक हरविद्र कल्याण को दी। उन्होंने जिला उपायुक्त निशांत यादव को पूरे मामले की जांच कर किसानों व आढ़तियों की समस्या का समाधान करने के लिए कहा है।

सोमवार को सर्वर डाउन होने की वजह से महज आधा दर्जन गेट पास ही कट पाए थे। मंगलवार को भारी संख्या में किसान धान लेकर मंडी में पहुंच गए जिसको लेकर मार्केट कमेटी के अधिकारियों की परेशानी बढ़ गई। आढ़तियों ने गेट पास को लेकर मंडी प्रधान रामलाल गोयल से शिकायत की। इस मामले को लेकर मंडी प्रधान ने सचिव चंद्रप्रकाश से बातचीत की। बाद में मंडी प्रधान की दुकान पर धान खरीद को लेकर आढ़तियों व कमेटी सचिव की मीटिग हुई। आढ़तियों ने सचिव पर सेलर मालिकों के साथ मिलीभगत का आरोप लगाया। आढ़तियों व मंडी सचिव के बीच खूब नोंकझोंक हुई। रामलाल गोयल ने मंडी बंद करने का ऐलान कर दिया। बाद में कुछ आढ़तियों ने बैठकर मामले को शांत किया लेकिन आढ़तियों की संतुष्टि न होने पर पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष सोहन लाल गुप्ता ने विधायक हरविद्र कल्याण को पूरे मामले की शिकायत की। बाद में व्यापारी जिला उपायुक्त निशांत यादव से मिले। मंडी के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष ने लगाए आरोप

लाला सोहन लाल गुप्ता ने मार्केट कमेटी सचिव चंद्रप्रकाश पर सेलर मालिकों से मिलीभगत के आरोप लगाए। गुप्ता ने कहा कि सचिव की सांठ-गांठ के कारण किसानों को गेट पास नहीं मिल पा रहे हैं। सरकारी एजेंसी का कोई भी आदमी मंडी में धान खरीद के लिए नहीं आता। वे सेलर मालिकों के साथ बैठक अपनी खानापूर्ति कर रहे हैं, जिससे व्यापारियों और किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

वहीं व्यापारियों की शिकायत के बाद जिला उपायुक्त ने एसडीएम घरौंडा को पूरे मामले की जांच करने के निर्देश दिए। शाम लगभग पांच एसडीएम डा. पूजा भारती ने मार्केट कमेटी कार्यालय में आढ़तियों और अधिकारियों के साथ बैठक की और पूरे मामले की जानकारी ली। आढ़ती एसोसिएशन देगी गेट पास

सीजन में 75 फीसद गेट पास चंडीगढ़ से जारी किये जाते हैं जबकि 25 फीसद गेटपास देने की पावर मार्केट कमेटी सचिव को दी गई है। मंडी एसोसिएशन इस व्यवस्था के नाखुश है। आढ़तियों की नाराजगी को देखते हुए मार्केट कमेटी ने मंडी एसोसिएशन की सहमति से गेट पास जारी करने की नीति तैयार की है। प्रधान रामलाल गोयल ने बताया कि प्रतिदिन एक प्लेटी पर 60 गेट पास जारी किए जाएंगे। इसके लिए आढ़तियों को अपने किसानों के नाम एसोसिएशन को देने होंगे। मार्केट कमेटी की तरफ से 60 गेट पास जारी किये जाते है। अब ये गेट पास मंडी एसोसिएशन की सहमति से जारी किए जाएंगे ताकि आढ़ती और किसान की व्यवस्था बनी रही। मुझ पर आढ़तियों ने जो आरोप लगाए है वे निराधार है।

-चंद्रप्रकाश सचिव मार्केट कमेटी घरौंडा गेट पास को लेकर कुछ शिकायतें मिली थी। जिसको लेकर व्यापारियों और अधिकारियों की बैठक लगी गई है। मार्केट कमेटी अपने स्तर पर 25 फीसदी गेट पास जारी कर रही है। आढ़तियों ने कमेटी पर गेट पास देने में गड़बड़ी के आरोप लगाये है। मामले की जांच की जा रही है।

-डा. पूजा भारती, एसडीएम घरौंडा।

Edited By: Jagran