संवाद सहयोगी, घरौंडा : रोजगार पॉलिसी बनाकर गेस्ट टीचर्स की तर्ज पर रोजगार सुरक्षित करने व छुट्टियों का वेतन देने सहित विभिन्न मांगों को लेकर सरकारी स्कूलों में सेवाएं दे रहे कंप्यूटर लैब सहायकों ने विधायक हरविद्र कल्याण को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गया वर्ष 2011 में एक नियमित प्रक्रिया के तहत एक सरकारी एजेंसी सीडेक मोहाली द्वारा लिखित परीक्षा के आधार पर विभाग की देखरेख में मेरिट के अनुसार लैब सहायकों की नियुक्ति की गई थी। हाईकोर्ट ने भी लैब सहायकों के पक्ष में फैसला सुनाया है, लेकिन हरियाणा सरकार इन लैब सहायकों को टुकड़ों में रोजगार देकर उनके साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। लैब सहायकों को वेतन के नाम पर केवल नौ हजार रुपये दिए जाते हैं और छुट्टियों का वेतन भी नहीं दिया जाता। ऐसे में उन्हें अपना घर चलाना मुश्किल हो रहा है।

राजेश ने कहा कि कंप्यूटर लैब सहायकों का शोषण किया जा रहा है। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर सरकार ने उनके रोजगार को गेस्ट टीचर्स की तर्ज पर सुरक्षित नहीं किया तो उन्हें मजबूरन आंदोलन करना पड़ेगा। इस मौके पर राजेश पाढ़ा, दीपक, कविता, विकास व गुलाब आदि मौजूद रहे।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप