जागरण संवाददाता, करनाल : जिला बाल कल्याण परिषद व चाइल्ड लाइन की ओर से बाल भवन में बाल सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर जिले के सभी थानों के अधिकारियों के साथ कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस दौरान चाइल्ड लाइन की विभिन्न सेवाओं से भी अवगत कराया गया।

कार्यशाला में चाइल्ड लाइन की संयोजक शोभा कुमारी ने चाइल्ड लाइन की सेवाओं के बारे में जानकारी दी। निदेशक एवं जिला बाल कल्याण अधिकारी विश्वास मलिक ने बताया कि चाइल्ड लाइन 1098 फोन सेवा 24 घंटे चलने वाली मुफ्त राष्ट्रीय आपातकालीन फोन सेवा है। यह उन बच्चों के लिए है, जिन्हें देखभाल एवं सुरक्षा की जरूरत है। कोई बच्चा बीमार या अकेला हो। उसे आश्रय की जरूरत हो। कोई बच्चा छोड़ दिया गया हो या अनाथ, बीमार, बेसहारा अथवा बाल बंधुआ मजदूर हो। बच्चे से मजदूरी कराकर उसको मजदूरी न दी गई हो। रास्ते पर किसी बच्चे का उत्पीड़न हो रहा हो तो 1098 पर फोन करके कोई भी व्यक्ति बच्चे की मदद कर सकता है।

इस दौरान बच्चे को न्याय के साथ मजबूती से मदद दिलाने के लिए डीएलएसए की वकील रमन मल्होत्रा द्वारा बाल संरक्षण अधिकारों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। एडवोकेट अनिता सिंह ने भी बच्चों के काउंसिलिग संबंधित जानकारी दी। बच्चों का संपूर्ण विकास ही चाइल्ड लाइन का उद्देश्य है। इस अवसर पर जिले के बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष उमेश चानना, राजेंद्र शर्मा, सतपाल व सुषमा मान मौजूद रहे। चाइल्ड लाइन टीम से बलकार सिंह, कर्ण कांबोज, सुखविद्र सिंह, सुदेश, कविता, सरोज, सुमन व सचिन पाल मौजूद रहे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021