जागरण संवाददाता, करनाल : मासूम बच्ची को नौकर रखे जाने व मकान मालकिन द्वारा कथित तौर पर प्रताड़ित करने का मामला उस समय गहरा गया है। जब वीरवार को जिला बाल कल्याण समिति की ओर से कराई गई काउंसलिग में मासूम ने अपने साथ छेड़छाड़ की बात भी कही। इसके बाद समिति ने उसका मेडिकल कराया, जिसकी रिपोर्ट के आधार पर पुलिस में कार्रवाई कराई जाएगी। फिलहाल मेडिकल रिपोर्ट की इंतजार है। वहीं मासूम की दूसरी बहन की खोजबीन के लिए समिति की ओर से अभियान चलाया गया, लेकिन फिलहाल उसका सुराग नहीं लग पाया है जबकि अधिकारियों ने उनकी मां के साथ फोन पर संपर्क कर जानकारी भी जुटाई।

बता दें कि बुधवार को करीब आठ वर्षीय मासूम बच्ची फूसगढ़ वासी एक परिवार के पास अचानक पहुंच गई थी, जहां उसने बताया था कि वह एक घर में नौकर के तौर पर रखी हुई थी, जहां मकान मालकिन उसे प्रताड़ित करती थी। इसे सहन नहीं कर पाई तो वह घर से भागकर यहां पहुंच गई। सूचना बाल कल्याण समिति तक पहुंची तो एक टीम ने मौके पर पहुंच बच्ची को अपने सरंक्षण में ले लिया था। वीरवार को मामले की गहनता से जांच शुरू की गई तो वहीं डीसीपीओ रीना फौगाट ने बताया कि मासूम की कांउसलिग की गई, जिस दौरान उसने मकान मालकिन द्वारा प्रताड़ित करने के आरोप लगाए तो वहीं यह भी बताया है कि उसके साथ एक लड़के द्वारा छेड़छाड़ जैसी हरकत भी की जाती थी। उसने बताया कि उसे उसकी मां यहां छोड़कर गई जबकि उसकी दूसरी छोटी बहन को रामनगर में किसी के पास छोड़ा गया था। वहीं उसकी मां से भी संपर्क किया गया तो पता चला कि उन्होंने पति की मौत के बाद दूसरी शादी की है। वह छट पर्व के बाद करनाल पहुंच सकेगी।

----------------------

पोक्सो एक्ट के तहत भी दर्ज कराया जा सकता है मामला

बाल कल्याण समिति के चेयरमैन उमेश चानना का कहना है कि काउंसलिग में बच्ची से छेड़छाड़ की बात सामने आई है। ऐसे में यह मामला पोक्सो एक्ट के तहत भी दर्ज कराया जा सकता है। फिलहाल वीरवार को मासूम की कराई गई मेडिकल जांच रिपोर्ट का इंतजार है। अभी यह भी पता लगाया जा रहा है कि उसे व उसकी बहन को बेचा गया था या किसी अन्य तरीके से किसी के पास रखा गया। आरोपित महिला के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है तो वहीं दूसरी बच्ची की भी तलाश में टीम जुटी है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस