संवाद सूत्र, गढ़ी बीरबल : रविवार को गांव ब्याना में मनरेगा के तहत मजदूरी का कार्य करते हुए मिट्टी का तौंदा गिरने से दबकर दो महिला मजदूरों की मौत मामले में पुलिस ने संबंधित ठेकेदार सेठपाल व मेट सोनिया के खिलाफ केस दर्ज किया है। पुलिस ने यह कार्रवाई मृतक सुरइया के पति महबूब की शिकायत पर की है, जिसमें उन्होंने इस हादसे के पीछे उक्त लोगों द्वारा बरती गई लापरवाही करार दी है। वहीं पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद दोनों शव स्वजनों को सौंप दिए। हादसे से मृतकों के परिवारों में शोक की लहर दौड़ गई है। वहीं हादसे में घायल हंस राज व अमित को रविवार को ही उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। जबकि अशोक कुमार का इलाज कल्पना चावला राजकीय अस्पताल में चल रहा है। वहीं ग्रामीणों में इस हादसे के बाद मनरेगा अधिकारियों के प्रति गहरा रोष बना हुआ है। वहीं विधायक रामकुमार कश्यप ने इस हादसे पर दुख प्रकट किया है। वे हादसे के बाद उपचाराधीन मजदूरों का हालचाल जानने के लिए अस्पताल भी पहुंचे और पीड़ितों को भरोसा दिया कि सरकार से जो भी संभव मदद होगी, वह अवश्य कराई जाएगी। इस मौके पर मोहन लाल सैनी, अजय बत्तरा, पलविद्र सिंह, राजबीर सिंह, गुरप्रीत सिंह, सोनू विर्क, मोहित कुमार व बजिद्र सैन सहित कई अन्य लोग मौजूद रहे।

Edited By: Jagran