जागरण संवाददाता, करनाल : विधानसभा चुनाव के चलते आदर्श आचार संहिता की आहट के साथ ही नगर निगम ने शुक्रवार रात निगम आयुक्त निशांत कुमार यादव के निर्देश पर शहर में सभी विज्ञापन, होर्डिंग और फ्लैक्स बोर्ड उतार दिए। सुबह होते ही सड़कों व बाजारों में नजारा कुछ ओर ही था। डिवाइडर व खंभों पर बड़ी संख्या में लगे छोटे-बड़े होर्डिंग गायब थे। इस दौरान जनता को जागरूक करने वाले सड़क सुरक्षा के नियमों जैसे होर्डिंग्स को नहीं उतारा गया।

शहर के अस्पताल चौक से जैसे ही होर्डिग्स उतारने की कार्रवाई प्रारंभ हुई। निशांत कुमार यादव ने पहले इस कार्य को करने वाले स्वच्छता प्रहरियों को समझाया और कहा कि होर्डिंग उतारते वक्त सड़कों पर यातायात में किसी तरह का व्यवधान ना हो, अपनी सुरक्षा का भी ध्यान रखें। कोई किसी तरह की बात करे, तो नम्रता से पेश आएं। रोड सेफ्टी इत्यादि के होर्डिंग के अलावा ओर किसी के ना छोड़ें, ताकि इस मामले में कोई भेदभाव जैसी बात ना हो। होर्डिंग्स को लोड करने के लिए निगम के 3 टिप्पर और 3 ट्रैक्टर-ट्राली काम में लिए गए। उतारे गए होर्डिंग को निगम के स्लाटर हाउस और मेरठ रोड स्थित स्टोर में पहुंचाया गया।

मुख्य सफाई निरीक्षक सुरेंद्र चोपड़ा की देखरेख में शहर के विभिन्न मार्गो से होर्डिंग उतारने की कार्रवाई रातभर चलती रही, जिसमें कर्ण गेट से कुंजपुरा रोड, अग्रसेन चौक से कमेटी चौक, अस्पताल चौक से निर्मल कुटिया चौक, पुरानी सब्जी मंडी रोड पर मुगल कैनाल पुलिया से रेलवे स्टेशन तक तथा मीरा घाटी से नमस्ते चौक मार्ग से होर्डिंग, फ्लैक्स बोर्ड उतारे गए।

निगमायुक्त के अनुसार चुनाव में आदर्श आचार संहिता का पालन सबके लिए जरूरी है, इसके लिए समय रहते कार्रवाई कर लेनी चाहिए। इसी के चलते होर्डिंग उतारने की कार्रवाई अमल में लाई गई है, ताकि चुनाव आदर्श आचार संहिता की घोषणा होते ही होर्डिंग को लेकर उल्लंघन जैसी बात ना आए। उन्होंने बताया कि बीती रात्रि के अलावा निगम क्षेत्र में जहां भी होर्डिंग लगी होंगी, उन्हें भी उतारा जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप