जागरण संवाद केंद्र, करनाल: भाई दूज का त्योहार जिले में उत्साह व श्रद्धा के साथ मनाया गया। बसों में भीड़ के चलते धक्का-मुक्की के बीच भाई बहनों के घर पहुंचे। बसों में चढ़ने की भी जगह नहीं मिलने पर कई मार्गों पर यात्रियों को इंतजार करना पड़ा। रेलवे स्टेशन पर भी भीड़भाड़ रही। बस स्टैंड और बाईपास पर यात्रियों की भीड़ रही।

करनाल के नए बस स्टैंड, पुराने बस स्टैंड, आइटीआइ चौक, निर्मल कुटिया चौक, सेक्टर छह चौक, नमस्ते चौक व ताऊ देवी लाल चौक पर यात्री बसों के इंतजार में रहे। पुराने बस स्टैंड से रेलवे स्टेशन जाने वाले थ्री-व्हीलर भी खचाखच यात्रियों से भरकर चले। स्टेशन पर भीड़ के मद्देनजर जीआरपी व आरपीएफ ने सुरक्षा इंतजाम कड़े किए थे। प्रवेश व निकासी द्वार पर पुलिस का कड़ा पहरा रहा। संदिग्ध यात्रियों के सामान की जांच की गई। आरपीएफ कर्मचारियों ने बुजुर्गो को ट्रेन में चढ़ाने में भी मदद की। टैक्सी चालकों की हुई चांदी

बसों में भीड़ होने के चलते लोगों ने किराये पर टैक्सी लेकर जाने का प्लान भी बनाया। इसके चलते टैक्सी चालकों की खूब कमाई हुई। सुबह से ही टैक्सी बुक करवाने के लिए लोग स्टैंड पर पहुंचना शुरू हो गए थे। शहर के पुराने बस स्टैंड के पीछे स्थित टैक्सी स्टैंड और सेक्टर 12 स्थित टैक्सी स्टैंड पर आकर लोगों ने टैक्सी बुक करवाई। टैक्सी चालक सुरेंद्र व राजन ने कहा कि भाई दूज पर टैक्सी की डिमांड बढ़ जाती है। क्योंकि लोग सुरक्षित और आरामदायक सफर करना चाहते हैं। बाजारों में भी रही रौनक

भाई दूज के चलते बाजारों में भी रौनकर रही। भाइयों और बहनों ने बाजार में जाकर एक दूसरे के गिफ्ट खरीदे। साथ ही मिठाइयों की भी खूब बिक्री हुई। मिठाई की डिमांड को देखते ही बाजार में जगह जगह स्टाल भी लगाए गए थे। खासतौर पर पुराने बस स्टैंड व पुराना जीटी रोड पर दुकानदारों ने मिठाई के स्टाल लगाए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप