संवाद सहयोगी, इंद्री : कलरी-नन्हेड़ा गांव स्थित मंदिर में वाल्मीकि समाज के लोगों की बैठक हुई। जिसमें प्रभु रत्नाकर सेवा दल के पदाधिकारी मुख्य रूप से शामिल हुए।

प्रदेश उपाध्यक्ष वीर बलदीप मचल ने कहा कि प्रथम आदि धर्म गुरु प्रभु रत्नाकर महाराज ने इस समाज को जगाने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। आज वाल्मीकि समाज को उनकी विचारधारा पर चलने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि समाज को एकजुट होने की जरूरत है, ताकि समाज एक विधि, एक विधान, एक प्रधान, एक निशान को मानकर उन्नति की तरफ अग्रसर हो सके। इस मौके पर संस्था के प्रचार मंत्री वीर जसविद्र शंभुक, वीर रणबीर मचल, अमित बागड़ी, गौरव, दीपांशु, धर्मवीर, सावन, गौरव बिड़लान, गुलशन बिड़लान मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप