जागरण संवाददाता करनाल : अल्फा सिटी में मेंटीनेंस चार्ज बढ़ाए जाने पर विवाद हो गया है। स्थानीय लोगों ने इसका विरोध करते हुए मैनेजमेंट के खिलाफ धरना देकर नारेबाजी की। एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने आरोप लगाया कि अल्फा सिटी मैनेजमेंट एग्रीमेंट के बावजूद उसका पालन करने को तैयार नहीं है।

मेंटीनेंस चार्ज की बात करते हुए एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बताया कि एसोसिएशन व मैनेजमेंट के बीच चार साल पहले एग्रीमेंट हुआ था कि इसकी बढ़ोतरी केवल 5 प्रतिशत ही होगी, वह भी केवल साल में एक बार अप्रैल माह में। साल 2018 में अप्रैल में 5 प्रतिशत मेंटीनेंस चार्ज बढ़ाने के कुछ माह बाद ही अक्टूबर में इसमें 40 प्रतिशत का इजाफा कर दिया। इस मामले को लेकर अल्फा सिटी मैनेजमेंट के साथ एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने कई बार बैठक की और उन्हें एग्रीमेंट के बारे में याद दिलाया, लेकिन चार्ज कम नहीं किया गया। उल्टे मैनेजमेंट ने यहां रह रहे लोगों को नोटिस भेज दिए हैं, जिसके विरोध स्वरूप हमें ये धरना प्रदर्शन करना पड़ रहा है।

----------------

यह बोले स्थानीय लोग

एग्रीमेंट का हो पालन

अल्फा सिटी मैनेजमेंट के साथ एसोसिएशन के पदाधिकारियों की बैठक में साल में एक बार 5 प्रतिशत मेंटीनेंस चार्ज बढ़ाए जाने का एग्रीमेंट हुआ था। जो अप्रैल 2018 में बढ़ा दिया गया था। बावजूद इसके मैनेजमेंट ने मनमानी करते हुए अक्टूबर में इसे आठ गुना बढ़ा दिया, जो नियमों के खिलाफ है।

जोगेंद्र मदान, प्रधान अल्फा रेजीडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन। तीन साल सड़कों की मरम्मत नहीं

अल्फा सिटी की सड़कों के हालात बदतर हो चुके हैं। इनमें सिर्फ गड्ढे नजर आते हैं। तीन साल से ज्यादा का समय हो गया, पर मैनेजमेंट इस ओर अपना ध्यान नहीं दे रही है। हां, चार्ज बढ़ाने में कोई देरी नहीं। पैसा जमा न कराएं तो नोटिस भेज देते हैं।

राजेश मैहला, संयुक्त सचिव, अल्फा रेजीडेंट्स एसोसिएशन। ग्राहकों को नहीं दिया एनबीएजीआर के साथ का रास्ता

प्लॉट या फ्लैट बुक करते समय अल्फा सिटी मैनेजमेंट ने ग्राहकों को एनबीएजीआर के साथ-साथ जीटी रोड पर जाने का रास्ता देने का वादा किया था। जो आज तक पूरा नहीं हुआ है। इंद्री रोड पर बनाया गया गेट भी सड़क से काफी नीचा है। यहां पानी भरने के बाद निकलना मुश्किल होता है।

दिवजोत सिंह, कैशियर अल्फा रेजीडेंट्स एसोसिएशन

------------

बैंक न एटीएम, मार्केट भी नहीं

यहां किसी भी तरह की फैसिलिटी नही है। यहां न तो कोई बैंक है और न ही एटीएम। मार्केट भी नहीं है। जब प्लॉट बुक कर रहे थे तो सभी सुविधाएं यहां मुहैया कराए जाने के वादे किए गए थे। अब अल्फा सिटी मैनेजमेंट कोई भी वादा पूरा नहीं कर रही है।

कुलदीप सिंह, स्थानीय निवासी। पहले ही जमा कराई आइएफएमएस 250 रुपये प्रति वर्ग गज की राशि

प्लॉट बुकिग के दौरान ही 250 रुपये प्रति वर्ग गज के हिसाब से इंटरेस्ट फ्री मेंटीनेंस सिक्योरिटी सभी ने जमा करवा रखी है। यहां मेंटीनेंस के नाम पर कुछ होता नहीं है, केवल हमसे पैसे लिए जाते हैं। वर्षो से सड़कों की मरम्मत नहीं हुई। सुविधाएं देने के बजाय मेंटीनेंस चार्ज बढ़ाने पर मैनेजमेंट का ध्यान है।

अजय अरोड़ा, स्थानीय निवासी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस