जागरण संवाददाता, करनाल : शहर को पोलिथिन मुक्त बनाने की दिशा में काम कर रहा नगर निगम जागरूकता अभियान के बाद शनिवार को एक्शन मोड़ में दिखा। निगम की सेनेटरी शाखा व ओडीएफ की संयुक्त टीम ने शहर की पुरानी सब्जी मंडी व मुगल कैनाल पर लगी अस्थाई सब्जी मंडी में लगी रेहड़ियों तथा गुड मंडी मार्केट में जाकर दुकानदारों को शत प्रतिशत कंपोस्टेबल पोलिथिन का प्रयोग करने को लेकर जागरूक किया। इसके साथ-साथ एनजीटी यानि राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के आदेशों का पालन करने की सूचना देते बैनर भी प्रदर्शित किए गए। इस दौरान अलग-अलग जगहों पर टीम ने 18 चालान किए। साथ ही पोलिथिन को भी जब्त किया।

टीम का नेतृत्व कर रहे मुख्य सफाई निरीक्षक सुरेंद्र चोपड़ा ने मंडी में मौजूद दुकानदार को इकठ्ठा कर पोलिथिन का प्रयोग और उसके नुकसान के बारे में चेताया। उन्होंने कहा कि एनजीटी के निर्देशों के अनुसार शत-प्रतिशत कंपोस्टेबल पोलिथिन का ही प्रयोग किया जाए। यह पोलिथिन मक्का व आलू के स्टार्च से बनी होने के कारण गंदे पानी व नाले इत्यादि में जाकर मिथेन गैस के संपर्क में आने से सप्ताह भर में ही गल जाती है।

सैंपल के तौर पर दिए कंपोस्टेबल पोलिथिन

मुख्य सफाई निरीक्षक ने बताया कि जागरूकता अभियान चलाने के साथ-साथ दुकानदारों और रेहड़ी वालों को सैंपल के तौर पर सम्पूर्ण कंपोस्टेबल पोलिथिन भी दिए गए हैं। इस मौके पर निगम के सफाई निरीक्षक प्रवेश, पीआइयू से आए सिटी टीम लीडर डॉ. प्रशांत त्यागी, ट्रीगर मास्टर गुरदेव सिंह, संजीव राठी, अंकित, विजय तथा रवि उपस्थित रहे।

--------------

उप निगमायुक्त धीरज कुमार ने कहा कि शहर के नागरिकों से अपील की है कि अब स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 का आगाज हो चुका है। करनाल के प्रबुद्ध नागरिक, शिक्षण संस्थाओं में पढ़ने वाले विद्यार्थी, दुकानदार और हाऊस होल्ड सब मिलकर शहर को स्वच्छ व साफ-सुंदर बनाने में निगम का सहयोग करें, ताकि सर्वेक्षण में देश के टॉप-10 शहरों में करनाल का नाम शुमार हो।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस