जागरण संवाददाता, करनाल : सदर थाना पुलिस पर एक युवक को अवैध तौर पर हिरासत में लेकर मारपीट व थर्ड डिग्री देने के संगीन आरोप लगे हैं। इस मामले में पीड़ित स्वजनों के साथ मिलकर आइजी भारती अरोड़ा के पास पहुंचे और आरोपित एसएचओ सहित अन्य पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की गुहार लगाई है वहीं एसएचओ ने सभी आरोप बेबुनियाद करार दिए। इसके बावजूद आइजी ने मामले की जांच डीएसपी करनाल को सौंपी है।

स्वजनों व दर्जनों ग्रामीणों के साथ शुक्रवार को आइजी कार्यालय पहुंचे गांव भैणी खुर्द वासी संदीप ने आरोप लगाते हुए बताया कि उसने गांव में छह एकड़ जमीन ठेके पर ली हुई है। इसी के विवाद के चलते उसे सदर थाना पुलिस ने बुलाया और जब वह थाने पहुंचा तो अवैध तौर पर हिरासत में ले लिया और उसके साथ मारपीट की। उन्होंने आरोप लगाए कि एसएचओ बलजीत सिंह के अलावा नरेंद्र कुमार, संदीप व रणधीर ने भी उसके साथ मारपीट की तो थर्ड डिग्री तक दी और जमीन छोड़ देने का दबाव बनाया। उसे झूठे केसों में फंसा देने की धमकी भी दी गई जबकि उस समय तक उसके खिलाफ इस मामले को लेकर थाने में कोई केस भी दर्ज नहीं था।

उन्होंने आरोप लगाए कि उसके स्वजनों पर भी दबाव बनाया गया तो वहीं उसे कहा कि उसके खिलाफ एक महिला ने छेड़छाड़ व धमकी देने की शिकायत दी है। वह जिस महिला के नाम शिकायत बता रहे है वे उसे जानते तक नहीं। उन्होंने मारपीट के बाद शरीर पर पड़े निशानों की फोटो हाथों में लेकर पुलिस की इस कार्रवाई पर जमकर रोष जताया और आरोपित पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

बेबुनियाद आरोप, युवक पर पहले भी दो केस : एसएचओ

सदर थाने के एसएचओ बलजीत सिंह का कहना है कि संदीप के खिलाफ गांव की ही एक महिला ने छेड़छाड़ व धमकी देने के आरोप लगाते हुए शिकायत दी थी। उन्होंने शिकायत में आशंका जताई थी कि आरोपित उनकी जमीन पर कब्जा करना चाहता है। इस जमीन को लेकर उनका पारिवारिक विवाद चल रहा है। शिकायत के चलते ही उसे जांच अधिकारी ने बुलाया था, लेकिन थर्ड डिग्री तो दूर मारपीट भी नहीं की। लगाए जा रहे सभी आरोप बेबुनियाद है। संदीप के खिलाफ एक केस पहले भी सदर थाने में दर्ज है, जिसमें वह बेल पर है तो एक केस उसके खिलाफ शहर थाने में भी दर्ज हुआ था। मामले की जांच आइजी ने डीएसपी को सौंप दी है, जिसमें सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा।

एसपी को जांच के लिए भेजी शिकायत : आइजी

आइजी भारती अरोड़ा का कहना है कि उनके पास संदीप व उसके कुछ स्वजन शिकायत लेकर आए थे, जिसमें मारपीट व थर्ड डिग्री के आरोप लगाए गए हैं। उन्होंने शिकायत जांच के लिए एसपी एसएस भौैरिया को भेज दी है। अब वे अपने स्तर पर मामले की जांच कराएंगे। वहीं एसपी ने बताया कि जांच डीएसपी करनाल को सौंप दी गई है।

Edited By: Jagran