जागरण संवाददाता, करनाल : डीसी विनय प्रताप सिंह ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा मूक-बधिर मतदाताओं के लिए भी विशेष व्यवस्था की गई थी। मतदान केंद्रों पर मूक-बधिर इंस्ट्रक्टर तैनात करने के साथ-साथ मतदान हेतु दिव्यांग स्टाफ को तैनात किया गया था।

अतिरिक्त उपायुक्त एवं मतदाता जागरूकता गतिविधियों के नोडल अधिकारी अनीश यादव ने बताया कि करनाल विधानसभा क्षेत्र में मतदान केंद्र नंबर 150 व 164, इंद्री विधानसभा में केंद्र नंबर 178, 179, नीलोखेड़ी में मतदान केंद्र नंबर 72, 74, तरावड़ी में केंद्र नंबर 102, 103 और घरौंडा विधानसभा क्षेत्र में मतदान केंद्र नंबर 150, 151 पर सुगम्य मतदान केंद्र स्थापित किए गए थे।

उन्होंने बताया कि इन मतदान केंद्रों पर पांच भाषाओं के फ्लेक्स बोर्ड लगवाए गए थे, ताकि इस तरह के विशेष मतदाता अपनी सुविधानुसार भाषा का चयन करके मतदान प्रक्रिया का ज्ञान हासिल कर सकें। जिन मतदान केंद्रों पर दिव्यांग मतदाता थे, वहां पर व्हील चेयर की व्यवस्था की गई थी। ऐसे मतदाताओं की मांग के आधार पर घर से मतदान केंद्र तक आने-जाने के लिए परिवहन व्यवस्था भी उपलब्ध करवाई गई थी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप