जागरण संवाददाता, करनाल : कोरोना काल में जहां एक तरफ विद्यार्थियों को भविष्य की चिता सता रही है वहीं सरकार की तरफ से सराहनीय प्रयास किए जा रहे हैं। इसी श्रृंखला में नीलकंठ ढाबे के पास 163 विद्यार्थियों का केंद्र बना कर जेईई मेन-2020 की परीक्षा ली गई। इंजीनियर संस्थाओं में दाखिले के लिए जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम यानी जेईई मेन-2020 के पहले दिन 90 उम्मीदवारों ने परीक्षा दी, जबकि 73 विद्यार्थी अनुपस्थित रहे। परीक्षा सुबह और शाम दो सत्रों में दी गई। शहर में ऑनलाइन मोड के तहत 6 सितंबर तक परीक्षा आयोजित की जाएगी। नेशनल टेस्टिग एजेंसी यानी एनटीए द्वारा उक्त परीक्षा केंद्र बनाया गया था। एडमिट कार्ड के साथ लिए सेल्फ डिक्लेरेशन के आधार पर ट्रेवल व मेडिकल हिस्ट्री ना छुपाने यानी सही पाए जाने वाले व स्वस्थ उम्मीदवारों को ही परीक्षा में हिस्सा लेने दिया गया। नकलरहित परीक्षा के लिए पुलिस बल तैनात रहा। परीक्षा केंद्र पर सभी को सैनिटाइजर करने के बाद मास्क पहनकर ही प्रवेश करने दिया गया। सहोदय स्कूल कॉम्प्लेक्स के अध्यक्ष डा. राजन लांबा ने बताया कि परीक्षा को लेकर संक्रमण बचाव के लिए विशेष ध्यान दिया गया और आवेदकों को हिदायतों के पालन के लिए जागरूक किया गया। पहले दिन परीक्षा शांतिपूर्वक व नकल रहित संपन्न हुई। उन्होंने बताया कि सुबह के सत्र में 62 में से 36 ने परीक्षा दी, जबकि शाम के सत्र में 101 उम्मीदवार थे, इनमें 54 ही परीक्षा में शामिल हुए।

Edited By: Jagran