जागरण संवाददाता, कैथल : जैसे-जैसे मतदान की तिथि 21 अक्टूबर नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे लोगों में जोश बढ़ता जा रहा है। गांव की चौपाल, शहर के पार्क से लेकर दुकानों तक हर जगह पर चुनावी को लेकर चर्चा है। कोई भाजपा तो कोई कांग्रेस, जजपा, इनेलो व निर्दलीय प्रत्याशियों के हार-जीत को लेकर मंथन करने में जुटे हैं। चर्चा के दौरान जो जिस राजनीतिक दल का समर्थक वे अपनी जीत पक्की बता रहे हैं। हालांकि मतदाता पूरी तरह से साईलेंट हैं।

इस दौरान लोग पांच सालों में भाजपा सरकार द्वारा कराए जा रहे विकास कार्यों की चर्चा करते हुए बिना किसी खर्ची व पर्ची के युवाओं को रोजगार देने, पढ़ी-लिखी पंचायत में गांव मे बनाने, किसान पेंशन योजना सहित अन्य मुद्दों की बात करते हैं। वहीं कैथल में 2004 से 2014 तक कांग्रेस के शासन काल में हुए विकास कार्यो का जिक्र भी करते हैं।

बुधवार को दैनिक जागरण की टीम ने कैथल विधानसभा क्षेत्र के मुख्य बाजारों व हिसार-चंडीगढ़ नेशनल के आसपास स्थित दुकान, चाय की रेहड़ी लगाने वाले लोगों से चुनावी को लेकर बातचीत की। त्योहारों का सीजन होने के कारण बाजारों में भीड़ रही। बृहस्पतिवार को मनाए जाने वाले करवा चौथ पर्व को लेकर महिलाएं चूड़िया, साड़ी सहित अन्य प्रकार की खरीदारी करते हुए दिखी। इस दौरान ग्राहकों व दुकानदारों में चुनावी माहौल को लेकर भी बातचीत हो रही है।

हिसार-चंडीगढ़ नेशनल हाइवे पर जिला नागरिक अस्पताल के सामने स्थित गुलशन मेडिकोज पर पहुंचे। यहां फार्मासिस्ट अनिल खुराना बैठे हुए थे, इस दुकान के साथ लगते ही चाय की रेहड़ी लगी हुई है और दो-तीन व्यक्ति भी वहां बैठे थे। जैसे ही खुराना से चुनावी माहौल की बातें शुरू हुई तो रेहड़ी पर बैठे व्यक्ति भी कुर्सी छोड़कर वहां खड़े हो गए। तभी अनिल बोले कुर्सी का तो रोला चाल रैया सै, तो कुर्सी ये छोड़कर मेरे पास आ लिया। तभी वहां दवाई लेने के लिए पहुंचे राकेश ने कहा, कुर्सी तो इबकै भी पहले वालों पै ही जाती दिख रि सै, बाकि 24 तारीख ने बैरा लाग जे गा ऊंट किस करवट बैठेगा। तभी बात पूरी होने से पहले ही श्यामा ने कहा कैथल में तो पूरी टक्कर प्रत्याशियों में हो रही है।

बाक्स-

माहौल तो पता नी किसका, पर

जोर सभी का लग रहा है

पिहोवा चौक पर छोले बेचने वाले के पास लगी भीड़ को देखा बाइक रोकी। चार से पांच युवक यहां खड़े थे। कुछ डबलरोटी-छोले खा रहे थे तो कुछ अपनी प्लेट तैयार होने का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही चुनाव के माहौल को लेकर पूछा तो छोले तैयार कर रहे व्यक्ति बोले, बाबूजी यहां तो हर समय चुनावी चौपाल लग रही है। अब तो आर्डर करने से पहले चुनाव के बारे में पूछते हैं जोर किसका चल रहा है। युवा राजीव व अमन ने कहा माहौल किसका ज्यादा है पर जोर सभी का लग रहा है। सुबह सात बजे से रात को दो से तीन बजे तक प्रत्याशी मतदाताओं के घर दस्तक दे रहे हैं। शहर के पार्को में सैर के दौरान लोग चुनावी माहौल को लेकर चर्चा करते हैं। कैथल ही नहीं बल्कि प्रदेश की अन्य हॉटसीट पर हार व जीत के समीकरणों को लेकर भी चर्चाएं हो रही है।

यहां से रेलवे गेट पहुंचे तो एक दुकान के बार बैठे दुकानदारों से चुनावी चर्चा की। दुकानदार बोले शहर में इस बार भाजपा व कांग्रेस प्रत्याशी के बीच कड़ा मुकाबला कैथल व कलायत में है, जबकि पूंडरी व गुहला में कांग्रेस, भाजपा, जजपा व निर्दलीय प्रत्याशियों के मुकाबले की चर्चाएं सुनने को मिल रही हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप