संस, ढांड: पशु पालन विभाग के चिकित्सक डॉ. विरेंद्र नैन ने डबल वैक्सीन मुंह खुर एवं गलघोंटू टीकाकरण अभियान के तहत गांव जाजनपुर में पशुओं को गलघोटू और मुंहखूर जैसी बीमारियों के टीके लगाएं गए। डॉ. विरेंद्र नैन ने बताया कि संयुक्त टीकाकरण अभियान के तहत गांव में पहले दिन पशुओं को लगभग 500 टीके लगाए गए। मौके पर पशु पालकों को टीकाकरण के महत्व के बारे में बताया गया कि इस टीकाकरण से 6 महीने तक पशु में मुंहखुर एवं गलघोंटू की बीमारी नहीं आती जिससे पशुपालक को मुहखुर की बीमारी जैसे दूध के रूप में व पशु की ईलाज के रूप में होने नुकसान से बचाया जा सकता है एवं गलघोंटू की बीमारी होने के बाद पशुओं को अचानक होने वाली मृत्यु से बचाया जा सकता है।

अत: पशुपालकों को अपने पशुओं का शत-प्रतिशत टीकाकरण कराना चाहिए ताकि इन बीमारियों से बचा जा सके। इस दौरान टीकाकरण टीम में वीएलडीए अमित, रामस्वरूप, शमशेर शामिल थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप