जागरण संवाददाता, कैथल : तितरम थाना क्षेत्र स्थित एक ईट-भट्ठा पर काम करने वाले परिवार की तीन साल की बच्ची से दुष्कर्म करने और बाद मे हत्या करने के आरोपितों की आज तक गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। इस मामले को लेकर पुलिस की छह टीमें गठित की गई हैं, लेकिन एक टीम के भी सफलता हाथ नहीं लगी है। आरोपितों की गिरफ्तारी न होने से परिजनों में पुलिस के प्रति रोष बढ़ रहा है। तितरम पुलिस थाना प्रभारी मुकेश कुमार ने बताया कि पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर जांच कर रही है।

यह है मामला

7 अक्टूबर को तीन साल की बच्ची गायब हो गई थी। अगले दिन पुलिस ने अपहरण का केस दर्ज किया था, लेकिन 9 अक्टूबर को खेत में बच्ची का शव मिला था। बच्ची की दोनों टांगें काटी हुई थीं। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में ले लिया था और परिजनों के बयान दर्ज किए। रोहतक पीजीआइ में शव का पोस्टमार्टम हुआ था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म के बाद बच्ची की हत्या की पुष्टि हुई थी। पुलिस ने आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर अलग-अलग छह टीमों का गठन किया। कुछ लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेज, लेकिन अभी तक रिपोर्ट नहीं आई है। पुलिस की तरफ से सर्च अभियान भी चलाया गया था। परिवार के लोगों का कहना है कि तीन माह से भी ज्यादा का समय बीत चुका है, लेकिन अभी तक एक भी आरोपित नहीं पकड़ा गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस