संवाद सहयोगी, पूंडरी : डीएवी स्कूल में वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसका शुभारंभ पदमश्री एवं पंचकूला डीएसपी ममता सौदा ने किया। विशिष्ट अतिथि के तौर पर जिला बाल कल्याण अधिकारी बलबीर चौहान ने भाग लिया। अध्यक्षता स्कूल के मैनेजर जेएस जैन व स्कूल एलएमसी चेयरमैन डॉ. शुषमा गुप्ता ने की।

ममता सौदा ने कहा कि सफलता को हासिल करने का कोई शार्टकट नहीं होता। सफलता हर वो व्यक्ति हासिल कर सकता है, जो कड़ी मेहनत और लगन से इसके लिए प्रयास करता है। उन्होंने कहा कि जिस मुकाम पर आज वो पहुंची है, इसके लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की और एक लक्ष्य का निर्धारण किया। बच्चों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि खेल केवल मेडल हासिल करना और जीतना ही नहीं बल्कि जीवन जीने की शैली है। उन्होंने बच्चों को खेलों में बढ़-चढ़कर भाग लेने का आह्वान किया।

मैनेजर जेएस नैन ने कहा कि डीएवी संस्थाएं बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ संस्कार भी दे रही है। उन्होंने बच्चों के अभिभावकों से अपील की कि वे बच्चों को समय दें, क्योंकि जो कुछ बच्चा माता-पिता से सीख सकता है, वो कहीं ओर से नहीं सीख सकता।

इससे पूर्व मुख्यातिथि व अन्य अतिथियों ने ध्वजारोहण कर कार्यक्रम की विधिवत रूप से शुरूआत की। कार्यक्रम की शुरुआत स्कूल की योग टीम द्वारा दी गई प्रस्तुति से की गई। जिसमें स्कूल के राष्ट्रीय स्तर के पुरस्कार विजेता बच्चों ने अपने प्रदर्शन से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। छोटे बच्चों की दौड़ स्पर्धा करवाई गई। विजेता बच्चों को मुख्यातिथि व अन्य अतिथियों ने सम्मानित किया।

प्राचार्या साधना बख्शी स्कूल की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। इस मौके पर सतपाल चुग, बजरंग नागरथ, नीना शर्मा, अनु सैनी, अनिल आर्य, जयपाल सैनी, योगेश उप्पल, निपुण राय सैनी व प्रदीप राणा मौजूद थे।

Posted By: Jagran