संवाद सहयोगी, कलायत : चंडीगढ़-हिसार राष्ट्रीय मार्ग पर स्थित खरक पांडवा गांव के सरकारी स्कूल के समक्ष स्वच्छ भारत मिशन की हवा निकल रही है। शिक्षण संस्थान मुख्य द्वार के सामने और गांव की तरफ जाने वाले मुख्य मार्ग कीचड़ के कारण व्यवस्था बदहाल है। गंभीर समस्या को लेकर ग्रामीण दो मर्तबा सीएम विडो पर लिखित दे चुके हैं। बावजूद इसके समस्या ज्यों की त्यों है। युवा समाज सेवी गंगादयाल खरक ने बताया कि युवा विकास संघ की तरफ से सीएम विडो पर मुख्य मार्ग की बदहाली को लेकर शिकायत दर्ज करवाई जा चुकी है। सीएम विडो के कर्मचारी बिना कुछ समाधान किए ही मामले का निपटारा करके अपना पल्ला झाड़ लेते हैं। मुख्य मार्ग पर पानी खड़े रहने की समस्या को लेकर ग्रामीणों ने नेशनल हाईवे के अधिकारियों को भी लिखित रूप से अपनी शिकायत देकर हालातों से रूबरू करवाया था, लेकिन अधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही। गांव के स्कूल में प्रवेश करने से पहले विद्यार्थियों, शिक्षकों और अभिभावकों को कीचड़ से गुजरना पड़ता है। पानी निकासी की यह समस्या नई नहीं है। वर्ष 2018 में एसडीएम कलायत को लिखित शिकायत की गई थी। हैरानी का विषय है कि केंद्र एवं राज्य सरकार के स्वच्छता मिशन के बीच जिस प्रकार बदहाली का दृश्य गांव के सरकारी स्कूल के समक्ष बना है उसने अधिकारियों को जांच के कटघरे में खड़ा कर दिया है। ग्रामीणों ने पानी निकासी कार्य में कोताही करने वाले अधिकारियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई की मांग की है। करेंगे समस्या का समाधान: सरपंच

खरक पांडवा गांव की महिला सरपंच सीता देवी ने बताया कि पानी निकासी समस्या के निराकरण को लेकर निरंतर कदम उठाए जा रहे हैं। स्कूल मुख्य द्वार के पास धर्मशाला निर्माण का कार्य जारी है। इसके मद्देनजर पानी निकासी का कोई अन्य विकल्प खोजा जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप