संवाद सहयोगी, पूंडरी : राजकीय प्राथमिक व वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय टयोंठा के अध्यापकों ने सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों का दखिला करवाने को लेकर मुहिम चलाई। अध्यापक सुखबीर शर्मा ने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी गिरीश कौशिक के मार्गदर्शन में स्कूल के अध्यापकों की टीम गांव में घर-घर जाकर दस्तक दे रही है। विद्यालय के मुखिया सारिका रानी व सोमदत्त की अगुआई में अध्यापकों की ये टीम लोगों को अपने बच्चों का दाखिला सरकारी स्कूलों में करवाने के लिए प्रेरित कर रही है व कोरोना के प्रति जागरूक भी कर रही है। उन्होंने बताया कि पिछले दो सप्ताह से अध्यापकों की ये टीम लोगों को सरकारी स्कूलों में मिलने वाली सुविधाओं के साथ-साथ शिक्षा के स्तर के बारे में भी जानकारी दे रही है।

ऑड-इवन फार्मूले से स्कूल खोलने की अनुमति दे सरकार : गर्ग

जागरण संवाददाता, कैथल : सरकार द्वारा कक्षा पहली से आठवीं तक के विद्यार्थियों के लिए स्कूलों स्कूलों को बंद करने की घोषणा से सभी स्कूल संचालक और अभिभावक परेशान हैं। निजी स्कूल संघ के प्रदेश संरक्षक रविभूषण गर्ग ने कहा कि सरकार स्कूलों को बंद न करें, बल्कि कोरोना गाइडलाइन का पालन करवाते हुए स्कूलों को ऑड-इवन के फार्मूले से स्कूल खोलने की इजाजत दें ताकि बच्चों की पढाई बाधित न हो। गर्ग ने कहा कि सरकार की चिता प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर सही है। परंतु निजी स्कूल सरकार को पूर्ण रूप से आश्वस्त करते हैं कि स्कूल अपने परिसर में कोरोना गाइडलाइन का पूरी तरह पालन करेंगे। गर्ग ने कहा कि स्कूलों को बंद करने से माता-पिता के चेहरे पर चिता दिखाई देती है, क्योंकि जो छात्र लॉकडाउन से पहले कक्षा पहली में था, वो अब सीधा तीसरी में पहुंच गया है। यदि अब भी उस छात्र को शिक्षा नहीं मिलती तो उसका भविष्य क्या होगा, यह सब हम अच्छी तरह जानते है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021