सुनील जांगड़ा, कैथल

जिले में वाल्मीकि कम्युनिटी सेंटर के पास पहली बार आधुनिक तरीके से फेब्रिकेटिड रैन बसेरा बनाया जा रहा है। केंद्र सरकार की दीनदयाल बेसहारा आवास योजना के तहत इसका निर्माण किया जाएगा। इस पर 76 लाख रुपये की राशि खर्च होगी। नगर परिषद की देखरेख में निर्माण कार्य चल रहा है जो जनवरी के पहले सप्ताह में पूरा हो जाएगा।

सीएम मनोहर लाल ने 29 नवंबर को रोड शो से पहले रैन बसेरे का शिलान्यास किया था। इससे पहले जिले में दो स्थानों पर वैकल्पिक रैन बसेरे बनाए गए हैं। दोनों ही स्थानों पर ठहरने वाले लोगों को पूरी सुविधाएं नहीं मिल पा रही थी। सर्दी के मौसम में राहगीरों को इनकी जरूरत होती है। इसकी सबसे खास बात यह है कि इसका ढांचा लोहे व स्टील से तैयार किया गया है। दिल्ली से ढांचा तैयार हुआ है जो पूरी तरह से जंगरोधक होगा। यह रैन बसेरा बस स्टैंड व रेलवे स्टेशन से करीब एक या डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर है। यहां तक जाने के लिए जरूरतमंदों को आटो का सहारा लेना पड़ेगा। स्थायी रैन बसेरा बनाए जाने से लोगों को फुटपाथ व खुले में नहीं सोना पड़ेगा।

ये होंगी सुविधाएं

आधुनिक तरीके से बनाए जा रहे रैन बसेरे में रुकने वालों को हर प्रकार की सुविधा दी जाएगी। करीब 90 लोग इसमें रह सकते हैं। रहने वालों के लिए रसोई, पहने के पानी, शौचालय, प्राथमिक उपचार, अलग-अलग कमरों, सोलर सिस्टम, गैस चूल्हा, पंखे, लाइट, दिव्यांगों के लिए ऊपर चढ़ने के रैंप ही अलग से सुविधा की गई है। इसके अलावा दो कर्मचारी भी नियुक्त किए जाएंगे जो इनकी देखभाल करेंगे।

पूंडरी में 36 लाख रुपये से बनेगा रैन बसेरा

पूंडरी कस्बे में भी इस योजना के तहत रैन बसेरा बनाया जा रहा है। इसे बनाने में 36 लाख रुपये खर्च होंगे। जगह कम होने के कारण इसमें 25 लोगों के ठहरने का इंतजाम होगा। यहां भी ठहरने वालों को खाने, पीने व सोने से संबंधित सभी प्रकार की सुविधाएं दी जाएंगी। इससे पहले पाई रोड स्थित सामुदायिक केंद्र में ही वैकल्पिक रैन बसेरा बनाया गया था। यहां सुविधाओं की कमी के कारण कम लोग ही ठहरने आए होंगे। अब यहां भी आधुनिक रैन बसेरा बनाया जाएगा।

नगर परिषद की देखरेख में काम

नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि केंद्र सरकार रैन बसेरे का निर्माण करवा रही है। निर्माण कार्य की देखभाल का जिम्मा नगर परिषद के पास है।समय-समय पर साइट पर जाकर पूरी व्यवस्था को चेक किया जा रहा है।

------------

जल्द होंगे शुरू

योजना के क्षेत्रीय संयोजक एनके शर्मा ने बताया कि केंद्र सरकार के आदेशों पर आधुनिक सुविधाओं से लैस फेब्रिकेटिड रैन बसेरे बनाए जा रहे हैं। कैथल व पूंडरी दो स्थानों पर बनाए जाएंगे। जनवरी के पहले सप्ताह में यह शुरू कर दिए जाएंगे।

Posted By: Jagran