जागरण संवाददाता, कैथल :

मुख्यमंत्री के विशेष अधिकारी ओपी सिंह ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से पुलिस अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को कई आदेश दिए गए। ओपी सिंह ने अधिकारियों से कहा कि हर राहगीरी कार्यक्रम अलग-अलग थीम पर आधारित होना चाहिए, ताकि लोगों को अधिक से अधिक मनोरंजन के साथ जागरूक भी किया जा सके।

राहगीरी कार्यक्रम में मनोरंजन के साथ-साथ अनेक ज्वलनशील मुद्दों को भी दर्शकों के सामने रखना चाहिए। मुख्यमंत्री के विशेष अधिकारी ओपी सिंह ने कहा कि आजकल जिदगी थम सी गई है। बच्चा, नौजवान व बुजुर्ग सभी कमरों में कैद हो गए हैं। लोगों के जीवन में टीवी, मोबाइल तथा अन्य उपकरण काफी प्रभावी हो गए हैं। ऐसा होने से लोग विभिन्न बीमारियों की चपेट में भी आ गए हैं और अस्पतालों में भीड़ लगी है। ऐसी स्थिति में राहगिरी कार्यक्रम अपनी अहम भूमिका निभाता है। राहगीरी कार्यक्रम सुबह के समय लोगों को मनोरंजन, खुशी तथा मानसिक परेशानियों से छुटकारा दिलाता है।

उन्होंने कैथल जिला को बधाई देते हुए कहा कि अप्रैल 2019 से आज तक की रिपोर्ट के अनुसार कैथल जिला भी राहगिरी पार्टिसिपेशन लेवल तीसरे स्थान पर है। खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग व शिक्षा विभाग भी राहगीरी कार्यक्रम में बच्चों की भागीदारी करवाकर कार्यक्रम को रोचक बनाएं।

उन्होंने कहा कि स्वच्छता, जल शक्ति, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, फसल अवशेष प्रबंधन, ड्रग्स आदि विषयों पर राहगीरी कार्यक्रम आयोजित किए जाएं। डीएसपी बलजिद्र सिंह ने कहा कि जिला में अप्रैल माह से अब तक 12 राहगीरी कार्यक्रमों का आयोजन किया जा चुका है, जिसमें सहभागिता की संख्या 13 हजार 600 है, जिसे आने वाले समय में बढ़ाया जाएगा। दिसंबर में राहगिरी कार्यक्रम विशेष थीम पर आयोजित किए जाएंगे। इस मौके पर जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम अधिकारी सतविद्र गिल, सुरक्षा शाखा प्रभारी मंजू सिंह के अलावा शिक्षा विभाग के उप जिला शिक्षा अधिकारी प्रेम पूनिया व पुलिस विभाग के संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप