जागरण संवाददाता, कैथल :

वामपंथी पार्टियों ने पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस की महंगाई, राफेल खरीद घोटाला व बढ़ती बेरोजगारी के खिलाफ जवाहर पार्क में धरना दिया। एसयूसीआई, कम्युनिस्ट पार्टी व सीपीआइ एम के कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की।

कम्युनिस्ट पार्टी के जिला कमेटी सदस्य बाबू राम व सीपीआईएम जिला सचिव प्रेम चंद ने कहा कि पिछले साढ़े चार साल में केंद्र की मोदी सरकार ने भारी उत्पाद शुल्क बढ़ाया है। वहीं राज्य सरकारों ने वैट बढ़ाकर पेट्रोलियम पदार्थों के दामों में बढ़ोतरी के पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। कृषि लागत खर्च पर डेढ़ गुणा दाम देने व कर्जा मुक्ति के वादे से सरकार अब मुकर गई है। बेरोजगारों को रोजगार, कालाधन की वापसी पर वादाखिलाफी की है।

भ्रष्टाचार के मामले में भाजपा ने कांग्रेस को भी पीछे छोड़ दिया है। राफेल खरीद घोटाला इसकी मुंहबोलती तस्वीर है। नोटबंदी व जीएसटी ने जनता का जीना दूर्भर कर दिया है। शिक्षा, मनरेगा, कृषि के बजट को लगातार कम किया जा रहा है। उल्टे चार लाख करोड़ रुपये हर साल कार्पोरेट घरानों को राहत पैकेज दिया जा रहा है।

इस अवसर पर सत्यवान, जसपाल ¨सह, अशोक शर्मा व कुलदीप मौजूद थे।

Posted By: Jagran