संवाद सहयोगी, गुहला-चीका : प्राथमिक शिक्षकों ने एक बैठक कर शिक्षा विभाग की तरफ से जीआइएस का नंबर नहीं देने पर रोष प्रकट किया। बैठक दौरान राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला महासचिव सुरेश द्रविड़ ने कहा कि जीआइएस किसी भी कर्मचारी के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है, लेकिन शिक्षा विभाग हरियाणा इसके प्रति जरा भी गंभीर नहीं है। जीआइएस का तात्पर्य है ग्रुप इंश्योरेंस स्कीम से हैं जिसके तहत कर्मचारियों का बीमा होता है और यह बीमे की राशि कर्मचारी की सेवानिवृत्ति पर दी जाती है। उन्होंने बताया कि सरकारी सेवा के दौरान किसी कर्मचारी के अचानक दुर्घटना ग्रस्त हो जाने पर भी इसका लाभ उसे कर्मचारी को दिया जाता है। कहा क िखंड गुहला में वर्ष 2000 के पश्चात शिक्षा विभाग में नियुक्त कर्मचारियों को जीआइएस नंबर अभी तक अलाट नहीं किए गए है। यह केवल खंड गुहला की ही नहीं अपितू पूरे कैथल जिले की यही स्थिति है। सरकार की इस योजना के प्रति विभाग के कर्मचारियों व अधिकारियों का गंभीर न होना इस योजना पर कई सवालिया निशान खड़े करता है। शिक्षकों ने कहा कि शिक्षा विभाग की व्यवस्था दिन प्रतिदिन जर्जर होती जा रही है। विभाग के आला अधिकारी जानबूझकर विभाग में समस्याएं बना कर रखना चाहते हैं।

वर्जन: कार्यालय से ले सकते जीआईसी नंबर

विभाग कर्मचारियों के हितों को लेकर पूरी तरह से सजग है। सभी कर्मचारियों को जीआइसी नंबर अलाट किए जाते हैं। जिन्हें नहीं मिले है वे किसी समय कार्यालय से ले सकता है। इस योजना का लाभ रिटायरमेंट पर दिया जाता है, जो कर्मचारी रिटायर हुए है उन सबको इसका लाभ मिला है।

-शमशेर सिंह सिरोही, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी कैथल। -------------

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran