जागरण संवाददाता, कैथल : बाल विवाह प्रतिषेध अधिकारी ने पुलिस टीम के साथ गांव नौच में एक नाबालिगा की शादी रुकवाई। पुलिस के पास गुप्त सूचना आई थी कि गांव नौच में एक नाबालिग लड़की की शादी करवाई जा रही है। टीम मौके पर पहुंची और मामले के बारे में जानकारी हासिल की। टीम ने नाबालिग के परिजनों से कागजात मांगे तो वे पहले तो कुछ नहीं दिखा पाए। उसके बाद परिजनों ने आधार कार्ड दिया तो उसके अनुसार नाबालिग की आयु मात्र 15 साल ही थी। नाबालिग के पिता ने बताया कि उसके पास दस बच्चे हैं। आठ लड़कियां और दो लड़के। चार बच्चों की शादी पहले हो चुकी है। खर्च बचाने के लिए वह शादी कर रहा था। जींद से बारात आनी थी, लेकिन उसे आने से मना कर दिया गया था। टीम ने गांव के सरपंच को कहा कि वे ये शादी न होने दें। अगर परिजन दोबारा शादी करने का प्रयास करें तो उन्हें सूचना दें। टीम में क्योड़क चौकी से भीम सिंह, महिला थाने से अनिता, नैना, राजेश मौजूद रहे।

बॉक्स

बाल विवाह प्रतिषेध अधिकारी सुनीता शर्मा ने बताया कि उनके पास गांव नौच में नाबालिगा की शादी होने की सूचना आई थी। टीम ने मौके पर जाकर शादी रुकवा दी थी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran