संवाद सहयोगी, कलायत : दो दिन के अवकाश के बाद ओबीसी बैंक कर्मचारी हड़ताल पर रहे। सोमवार को विधानसभा चुनाव के चलते बैंकों की छुट्टी रही। बैंक के खाताधारक ओबीसी बैंक में दो दिन की छुट्टी के बाद बैंक के खुलने से पहले ही बैंक के सामने जुटना शुरू हो गए थे। उपभोक्ताओं को उस समय निराशा भी हुई जब सुबह बैंक के मुख्य द्वार पर यह नोटिस चस्पा किया गया कि 22 अक्तूबर को बैंक कर्मचारियों कि हड़ताल है। उपभोक्ता दर्शना देवी व बचनी देवी ने कहा कि वे कुरुक्षेत्र से सुबह वाली ट्रेन में कलायत आई थी। इस बैंक के खाते में जमा राशि निकलवानी थी। उन्होंने कहा कि बैंक से राशि निकलवाने के चक्कर में हड़ताल के चलते जहां उनकी एक दिन की मजदूरी जाती रही। वहीं अब इधर उधर बैठ बाद दोपहर आने वाली ट्रेन का इंतजार करना पड़ेगा।

अब हड़ताल के चलते उन्हें दोबारा फिर कुरुक्षेत्र से कलायत आना पड़ेगा, जिससे उन्हें धन का नुकसान होगा। कलायत निवासी अजय, राकेश कुमार, जगशील, शिमला देवी का कहना है कि एक ओर जहां सरकार द्वारा छुट्टी के दिन भी बैंक खोलने की योजना बनाई जा रही है वहीं दो दिन की छुट्टी के बाद इस प्रकार जब बैंक कर्मचारी हड़ताल पर जाते है तो उससे उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ जाती है। बैंक कर्मचारियों द्वारा किस मांग को लेकर हड़ताल की है, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई। ----------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस