जागरण संवाददाता, कैथल : नगर परिषद की ओर से शहर में किया जा रहा फेमिली आइडी का सर्वे बड़ी चुनौती बना हुआ है। सर्वे का कार्य पूरा करने के लिए नप की ओर से हर संभव प्रयास किया जा रहा है। बृहस्पतिवार को नप अधिकारियों ने पंचायत भवन में शहर के सभी बीएलओ की बैठक ली।

99 में से करीब 60 बीएलओ मीटिग में पहुंचे। चुनाव नायब तहसीलदार शमशेर सिंह और नप कार्यकारी अधिकारी अशोक कुमार ने मीटिग की अध्यक्षता की। इस मौके पर बीएलओ ने अधिकारियों को कहा कि हमें बार-बार परेशान ना किया जाए। इस पर अधिकारियों ने कहा कि सर्वे का टारगेट तो पूरा करना ही पड़ेगा। हमको भी उच्च अधिकारियों को जवाब देना होता है। सर्वे पूरा करो और हमारा भी पीछा छुड़वा दो।

बीएलओ बोले कि उनका काम चुनाव से संबंधित है। सरकार का कोई भी काम हो उन पर जबरदस्ती थोप दिया जाता है। अंत में फैसला लिया गया कि सभी बीएलओ शुक्रवार को फील्ड में जाएंगे। शनिवार और रविवार को अपने बूथ पर जाकर आइडी बनाएंगे। उनके साथ एक सक्षम युवा और एक नप कर्मचारी होगा। पार्षदों को भी इस कार्य में सहयोग करने की अपील की जाएगी। इस मौके पर नप सचिव मोहन लाल, एमई राजकुमार, लेखाकार अधिकारी राजेंद्र मलिक, साहब राम, विशाल गुप्ता, राजकुमार, मोहन मौजूद थे।

बॉक्स

24 हजार परिवारों की हुई पहचान

करीब तीन महीने पहले फेमिली आइडी बनाने को लेकर सर्वे शुरू हुआ था। नप की ओर से करीब 22 हजार परिवारों का सर्वे करके उसकी जानकारी ऑनलाइन कर दी गई थी। उसके बाद प्रशासन की ओर से दोबारा निर्देश दिए गए कि शहर में अनुमानित परिवार 32 हजार हैं। इस अंतर को कम किया जाए और बचे हुए परिवारों का सर्वे किया जाए। उसके बाद नप ने दोबारा काम शुरू किया और 24 हजार परिवारों की पहचान कर दी। अब भी आठ हजार परिवारों का अंतर है, जिसे दूर करना है।

बॉक्स: लोग भी नहीं कर रहे सहयोग

शहर के लोग सर्वे कर रहे कर्मचारियों को सहयोग नहीं कर रहे हैं। कुछ परिवार ऐसे हैं जिन्होंने गलत जानकारी दी है। कुछ ऐसे हैं जो जानकारी देने से मना कर देते हैं। कर्मचारियों को सही जानकारी नहीं देने और फेमिली आइडी न बनवाने वालों को परेशानी उठानी पड़ सकती है। नप अधिकारियों का कहना है कि जिस परिवार की फेमिली आइडी नहीं होगी भविष्य में उसे सरकारी सेवाओं से वंचित रखा जा सकता है।

वर्जन : शहर में मुनादी करवाई जाएगी

नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि फेमिली आइडी सर्वे को लेकर सभी बीएलओ को बुलाया गया था। सर्वे में आठ हजार परिवारों के अंतर को दूर करने के लिए तीन दिनों तक सभी बीएलओ फील्ड में रहेंगे। इसके लिए शहर में मुनादी भी करवाई जाएगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस