जागरण संवाददाता, कैथल : नगर परिषद कार्यालय में बृहस्पतिवार को हाउस की मीटिग बुलाई गई है। बैठक से एक दिन पहले ही 15 पार्षदों ने शहर के एक मंदिर में बैठ कर रणनीति तैयार की। बैठक हंगामेदार होने की संभावना है। कांग्रेस और भाजपा समर्थित पार्षदों के बीच बहस हो सकती है।

नगर परिषद के इतिहास में पहली बार एसडीएम की अध्यक्षता में हाउस की मीटिग होने जा रही है। पार्षद 13 एजेंडों को लेकर चर्चा करेंगे। बैठक करने वाले पार्षद सभी 13 एजेंडों को सर्वसम्मति से पास करवाने का प्रयास करेंगे, लेकिन कांग्रेस समर्थित पार्षद इसका विरोध कर सकते हैं।

नगर परिषद में कुल 34 पार्षद हैं जिनमें 31 चुने हुए व तीन मनोनित पार्षद हैं। मंदिर में बैठक करने वाले पार्षदों ने सभी 13 एजेंडों पर विचार किया। यह भी तय किया गया कि मीटिग में कौन सा पार्षद किस एजेंडे को रखेगा। जो भी पार्षद एजेंडा रखेगा दूसरे पार्षदों को उसका समर्थन करना होगा। बता दें कि हाउस की मीटिग बुलाने को लेकर पार्षद दो गुटों में बंटे हुए थे। दोनों ही गुट मीटिग बुलाने और न बुलाने को लेकर डीसी से मिल चुके थे। वहीं दूसरा गुट मीटिग से दूरी भी बना सकता है।

बॉक्स

सुरजेवाला के खिलाफ बोले पार्षद

दो दिन पहले विधायक रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सिटी स्क्वेयर मामले में अपना बयान दिया था। सुरजेवाला ने कहा था कि अगर नप चेयरपर्सन को कुछ हुआ तो वे दस हजार लोगों के साथ सचिवालय में पहुंच जाएंगे। पार्षदों ने एकमत होकर कहा कि सुरजेवाला संख्या का भय दिखाकर प्रशासन को डराना चाहते हैं। पूर्व नप चेयरमैन यशपाल प्रजापति ने कहा कि सुरजेवाला वकील हैं, लेकिन लगता है उन्हें कानून की जानकारी नहीं है। सरकार व पुलिस अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं, लेकिन सुरजेवाला अब रोड़ा बनने का काम कर रहे हैं।

बॉक्स

इन एजेंडों पर होगी मीटिग में चर्चा

मीटिग में मुख्य रूप से 13 एजेंडे रखे गए हैं। मीटिग बुलाने वाले पार्षदों का तर्क है कि जो एजेंडे रखे गए हैं सभी जनहित में हैं। इन एजेंडों में मुख्य रूप से नप में ठेके पर भर्ती हुए 140 सफाई कर्मचारियों पर चर्चा करना। शहर में खराब पड़ी स्ट्रीट लाइटों को लेकर चर्चा। नगर परिषद की ओर से लगाए गए टेंडरों के बारे में चर्चा। जो ठेकेदार वर्क ऑर्डर मिलने के बाद भी काम नहीं कर रहे हैं। टेंडर खोले जाने के बाद भी ठेकेदारों को वर्क ऑर्डर जारी नहीं किए जा रहे हैं। शहर में विज्ञापन लगाने का ठेका देने बारे। जो दुकानदार किराया नहीं देते उन पर कार्रवाई को लेकर चर्चा। पार्कों की देखभाल के लिए चर्चा। ऐसे टेंडर जो बिना हाउस की अनुमति लिए रिवाइज किए गए हैं। विकास कार्याें की देखरेख के लिए पार्षदों की कमेटी का गठन करने बारे चर्चा।

बॉक्स

ये पार्षद रहे बैठक में मौजूद

बैठक में पूर्व नप चेयरमैन यशपाल प्रजापति, पार्षद प्रवीन शर्मा, पार्षद दीपक कुमार, पार्षद गोपाल सैनी, पार्षद विनोद सोनी, पार्षद निशा गर्ग, पार्षद कुलदीप सैनी, पार्षद राकेश सरदाना, मनोनित पार्षद बृजमोहन, रमेश गुप्ता, प्रतिनिधि धर्मबीर भोला, प्रतिनिधि कृष्ण सैनी, प्रतिनिधि वरूण मित्तल, प्रतिनिधि भीमसेन अग्रवाल, प्रतिनिधि प्रवीण सिगला मौजूद थे। ---------

Posted By: Jagran