जागरण संवाददाता, कैथल :

फर्जी हस्ताक्षर करके एफडी से रकम निकलवाने के मामले में गुहला पुलिस ने सहारा इंडिया परिवार के प्रबंधक के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।

सीवन निवासी रैमल दास ने सहारा इंडिया परिवार गुहला ब्रांच में कंपनी के एजेंट सतपाल निवासी सीवन के माध्यम से 15 हजार रुपये के हिसाब से 14 किश्तों में दो लाख 10 हजार रुपये की एफडी 18 महीने के लिए करवाई थी। एफडी करने के 13 महीने बाद कंपनी की एजेंट उनके पास आया और कहा कि आपकी एफडी का समय पूरा हो गया है और उससे एफडी की पासबुक व आधार कार्ड आदि की फोटो कॉपी ले गया। जब तीन महीने बीत जाने पर भी रैमल दास को कोई पैसा ना मिला तो उसने कंपनी की गुहला ब्रांच में प्रबंधक नरेन्द्र कुमार से संपर्क किया। प्रबंधक भी उसे एक साल तक टरकाता रहा। इसके बाद वे कंपनी की अंबाला ब्रांच में गया। वहां पता चला कि गुहला ब्रांच के प्रबंधक नरेन्द्र कुमार ने अलग-अलग समय में फर्जी हस्ताक्षर करके उसकी एफडी निकलवा ली है। शिकायतकर्ता ने कहा कि उसने एफडी लेने के लिए कभी भी कोई कागज पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं। अंबाला से यह भी पता चला कि मैनेजर ने अन्य लोगों के साथ भी धोखा किया है। इसलिए उसे निलंबित कर दिया गया है और गुहला ब्रांच को बंद करके उसे पिहोवा शिफ्ट कर दिया गया है। रैमल दास ने एसपी से मांग की है कि इस मामले में धोखाधड़ी करने वाले प्रबंधक को जल्द गिरफ्तार कर पैसे दिलवाएं जाएं। -------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस