जागरण संवाददाता, कैथल:

मुख्य तलाई बाजार में मूलभूत सुविधाओं का टोटा है। शौचालयों की व्यवस्था नहीं है। लाइटें नहीं होने के कारण शाम होते ही अंधेरा छा जाता है। दुकानदारों का कहना है कि मार्केट कमेटी द्वारा टैक्स तो ज्यादा लिया जाता है और सुविधाओं के नाम पर कुछ नहीं मिल रहा है। कई बार प्रशासन से मिल चुके है, लेकिन कोई अधिकारी ध्यान नहीं दे रहा है। उन्होंने मूलभूत सुविधाएं प्राप्त करने की मांग की है।

लाइटों का नहीं प्रबंध-

दुकानदार प्रदीप कुमार ने बताया कि तलाई बाजार में लाइटों का प्रबंध नहीं है। शाम होते ही अंधेरा छा जाता है। चोरी होने का भय रहता है। कई बार लाइटों के प्रबंध के लिए मांग कर चुके हैं, लेकिन कोई समाधान नहीं हो रहा है।

शौचालयों का नहीं प्रबंध-

दुकानदार श्याम लाल ने बताया कि बाजार में शौचालयों का प्रबंध नहीं है। शौचालय के लिए इधर- उधर जाना पड़ता है। कई बार विभाग को इसकी शिकायत कर चुके हैं, लेकिन कोई समाधान नहीं हो रहा है। शौचालयों के बिना परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

पीने के पानी का नहीं व्यवस्था-

दुकानदार पंकज सिंह ने बताया कि मुख्य बाजार में पानी की स्पेशल कोई व्यवस्था नहीं है। पीने के पानी के लिए दुकानदारों को कैंपरों का सहारा लेना पड़ रहा है। यहां एक किलोमीटर दूर पिहोवा चौक से पानी लेकर आना पड़ता है। बाजार में वाटर कूलर का प्रबंध करना चाहिए, ताकि इधर उधर भटकना पड़े।

सीवरेज की नहीं हो रही सफाई-

दुकानदार राजपाल सिंह ने बताया कि सीवरेज की सफाई नहीं की जा रही है। सीवरेज ओवरफ्लो होने से गंदा पानी बाजार की मुख्य सड़क पर खड़ा रहता है। इससे बदबू फैल रही है। बीमार होने का खतरा रहता है। समय समय पर प्रशासन द्वारा सीवरेज की सफाई करवानी चाहिए, ताकि एक जगह गंदा पानी एकत्रित न हो। बीमारी से लोग बच सके।

बिजली की तारे नीचे-

दुकानदार सतीश कुमार ने बताया कि बाजार में बिजली की तारे नीचे हो गई है। इसकी तरफ कोई प्रशासन का ध्यान नहीं है। दुर्घटना होने का खतरा रहता है। कई दुकान दो मंजिल है। इनके पास से तार निकले हुए हैं जो कि पुराने हो चुके हैं। टूटने का खतरा रहता है। जल्द से जल्द प्रशासन को इनकी तरफ ध्यान देना चाहिए ताकि कोई बड़ी घटना न हो।

पार्किंग का कोई प्रबंध नहीं है

दुकानदार जगदीश तनेजा ने बताया कि बाजार में पार्किंग का कोई प्रबंध नहीं है। पार्किंग न होने के कारण दुकानदार व ग्राहकों के वाहन बाजार की सड़कों पर खड़े रहते हैं। इससे जाम लग जाता है। वहीं कई बार वाहनों के पुलिस कर्मचारियों द्वारा चालान काट दिए जाते है। पार्किंग का प्रबंध होना चाहिए।

सड़क व सीवरेज के ढक्कन टूटे हुए-

दुकानदार ईश ने बताया कि बाजार की सड़कें टूट चुकी है। सीवरेज के ढक्कन टूटे हुए है। टूटी सड़कों पर वाहन चालक चोटिल हो रहे है। इसकी तरफ प्रशासन का कोई अधिकारी ध्यान नहीं दे रहा है।

गंदगी के लगे रहते है ढेर-

दुकानदार ललित ने बताया दुकानों के आगे गंदगी के ढेर लगे रहते है। कई - कई दिन सफाई करने के लिए अधिकारी नहीं आते है। उन्होंने मांग की है कि साफ सफाई हर रोज करवाई जाए।

जल्द कराया जाएगा लाइटों व शौचालय का प्रबंध

नप सचिव मोहन लाल ने बताया कि लाइटों व शौचालय का प्रबंध जल्द ही करवा दिया जाएगा। वहीं अन्य समस्याओं की तरफ भी ध्यान दिया जा रहा है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस