सुनील जांगड़ा, कैथल : अंतरराष्ट्रीय ¨हदू परिषद के अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि एक समय में ¨हदूओं ने पराक्रम से साढ़े चार सौ सालों से खड़ा बाबर का ढांचा चार घंटे में ढहा दिया था।

बाबर का ढांचा ढहाने वाले ¨हदूवादी नेता अब संसद में चले गए हैं और भगवान राम आज भी टेंट में ही बैठे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साढ़े चार सालों में राम मंदिर का काम शुरू नहीं करवाया। अब छह महीने में वह कहां से राम मंदिर बनवा देंगे। भाजपा के लिए भगवान राम मात्र वोटों की मशीन हैं। वे कैथल में जाखौली अड्डा स्थित अग्रवाल धर्मशाला में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

मोदी राम मंदिर नहीं बनवा पाए तो वे सत्ता अपने आप ही छोड़ दें नहीं तो 2019 में जनता सत्ता छुड़वा देगी। जनता को राफेल व मिशेल वाली सरकार नहीं चाहिए बल्कि राम मंदिर बनाने वाली सरकार चाहिए। वे स्वयं 32 सालों से लगातार अयोध्या में राम मंदिर बनाने का प्रयास कर रहे हैं और आगे भी करते ही रहेंगे। कश्मीर में सैनिकों पर पत्थरबाजी करने वालों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए। सैनिकों के पास ऐसे पत्थरबाजों के सीने में गोली मारने का अधिकार होना चाहिए।

बॉक्स : इस बार बनाएंगे ¨हदूओं की सरकार

तोगड़िया ने कहा कि इस बार ¨हदूओं की सरकार बनाई जाएगी। इसके लिए जल्द ही वे नई पार्टी बनाने का काम करेंगे। उन्हें सेवा का मौका मिला तो एक सप्ताह में ही राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू करवा दिया जाएगा। भाजपा को चुनाव के लिए माहौल बनाना था राम मंदिर के लिए नहीं। अगर सरकार चाहती तो सत्ता में आते ही मंदिर का निर्माण शुरू करवा देती। केंद्र सरकार राम मंदिर की जगह को राष्ट्रीय स्मारक घोषित करे और मंदिर बनाने का काम करे। ¨हदू समाज के लोग अब राम मंदिर बनाने वाली सरकार सत्ता में चाहते है। उनकी पार्टी सत्ता में आई तो किसानों के लिए स्वामीनाथन रिपोर्ट तुरंत प्रभाव से लागू करेगी। किसानों को कर्ज मुक्त करने का काम किया जाएगा।

Posted By: Jagran