संवाद सहयोगी, राजौंद : आइटीआइ में कार्यरत राजपाल की हत्या के मामले में गांव किच्छाना में वाल्मीकि समाज की पंचायत हुई। इसकी अध्यक्षता दलित संघर्ष समिति के प्रदेश संगठन सचिव शिव कुमार सिसला ने की।

उन्होंने बताया कि 19 जुलाई को राजपाल का शव राजौंद आइटीआइ में मिला था। आरोपितों के विरुद्ध 302 का मुकदमा दर्ज किया गया था लेकिन आज तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया। पंचायत में यह निर्णय लिया गया कि 17 सितंबर को आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए जवाहर पार्क में आंदोलन की शुरुआत की जाएगी।

उन्होंने बताया कि 17 को डीसी व एसपी को आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए ज्ञापन भी सौंपा जाएगा। युवा नेता शिव कुमार सिसला ने कहा कि सारा दलित, पिछड़ा, गरीब किसान सभी पीड़ित समाज के साथ है। इस दौरान कृष्ण सरपंच किठाना, कुलदीप, रोशन, किशन लाल, फतेह ¨सह, बलबीर, सतबीर, रोहताश, राम कुमार, लहणा, नरेश, ऋषिपाल, जोगी राम, बलमंत आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran