जागरण संवाददाता, कैथल :

आर्ट ऑफ लिविग संस्था की तरफ से लोगों के बहुआयामी व्यक्तित्व विकास के लिए आयोजित आनंद अनुभूति शिविर रविवार को संपन्न हुआ।

आर्ट ऑफ लिविग आचार्या अल्पना मित्तल ने बताया कि अद्वैत स्वरूप आश्रम व शिविर के अंतिम दिन शिविर का मार्गदर्शन आर्ट ऑफ लिविग आचार्य अभिषेक सोती ने किया। शिविर में साधकों ने योग-ध्यान, प्राणायाम, विशिष्ट क्रियाओं-प्रक्रियाओं, भजन-सत्संग एवं अद्भुत सुदर्शन क्रिया की गई। प्रतिभागियों में से ललिता आहुजा ने शिविर संबंधी अनुभव सांझा करते हुए उन्होंने बताया कि न सिर्फ अपने दुर्लभ मानव जीवन को एक नवीन दृष्टिकोण के साथ समझने का स्वर्णिम अवसर प्राप्त हुआ है, बल्कि अपने सामाजिक व राष्ट्रीय कर्तव्यों के प्रति सजगता का भी एहसास हुआ है।

देवम शर्मा ने बताया कि गुरु-ज्ञान के स्वर्णिम सूत्रों की मदद से जीवन को उच्चतम धरातल पर जीने की अनुकरणीय प्रेरणा भी प्राप्त हुई है। आचार्य अभिषेक सोती ने बताया कि लगभग 156 देशों में कार्यरत इस संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रमों में करोड़ो लोग लाभान्वित हो चुके हैं। स्वामी दिव्यतेज के सानिध्य में कपिस्थल आश्रम में आगामी 9 से 12 जनवरी गहन ध्यान शिविर आयोजित किया जाएगा। डॉक्टर विकास भटनागर ने शिविर से लाभान्वित हुए प्रत्येक साधक सदस्य को अह्वान किया। इस मौके पर स्वामी रविद्र ठाकुर, दीपक सेठ एडवोकेट, अल्पना मित्तल, कंचन सेठ, भारत खुराना, डॉ. विकास भटनागर, डॉ. सीमा भटनागर, सोनिया मिगलानी, सुनील खुराना, सूरजभान शांडिल्य, डॉक्टर अमर ठाकुर, डॉ. राजेश सीकरी, सुनीला सीकरी, मौजूद थे।

-----------------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस