कैथल : गुहला हलके के पूर्व विधायक बूटा सिंह ने साथियों सहित वीरवार को कांग्रेस पार्टी ज्वाइन कर ली। उन्होंने पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला से दिल्ली स्थित कार्यालय में मुलाकात की और उनके नेतृत्व में कांग्रेस का हाथ थाम लिया। 32 साल तक इनेलो में रहे गुहला से पूर्व विधायक बूटा सिंह पहले भाजपा में शामिल हो गए थे। तब उन्होंने कहा था कि इनेलो में पारिवारिक मतभेद के बाद कुछ नहीं बचा है। वह भाजपा की नीतियों पर भरोसा करते हुए बिना किसी शर्त के पार्टी में शामिल हो रहे हैं। बता दें कि बूटा सिंह 1987 में इनेलो में शामिल हुए थे और 1987 में ही गुहला से विधायक चुने गए। उसके बाद वे पार्टी में प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य के रूप में कार्य करते रहे। 2009 से वह इनेलो एससी सेल के प्रदेश उपाध्यक्ष थे। फिर भाजपा में चले गए और अब उन्होंने कांग्रेस का हाथ थामा है।

इस मौके पर रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ 10 महीने से आंदोलन चल रहा है, लेकिन सुनवाई नहीं हो रही। जिस प्रकार से धान पैदा करने वाले किसानों की दुर्गति मंडियों में हो रही है। इसे लेकर वे जिले में एक जनअभियान चलाएंगे। उन्होंने कहा कि यह भी निर्णय लिया कि अनुसूचित जाति व पिछड़ा वर्ग के जो मजदूर मंडियों में मजदूरी करते हैं, उनकी मजदूरी भी सरकार ने काट ली है। अगर मंडियां ही खत्म हो जाएंगी तो आढ़ती के साथ-साथ लाखों मंडी मजदूरों की रोजी-रोटी भी चली जाएगी। सुरजेवाला ने कहा कि नवंबर माह में एक रैली के साथ इस जनअभियान की शुरुआत करेंगे।

Edited By: Jagran