जागरण संवाददाता, कैथल: कोरोना महामारी को हराने के लिए भारत सरकार की तरफ से 21 दिनों तक संपूर्ण लॉक डाउन का बृहस्पतिवार को असर दिखाई दिया। लोग घरों में रहे और सड़कों पर सन्नाटा रहा। केवल राशन, सब्जी, पेट्रोल पंप, बैंक, गैस एजेंसी, पुलिस थाने और मीडिया कर्मियों के कार्यालय ही खुल रहे। सुबह के समय नई अनाज मंडी में सब्जी खरीदने के लिए जुटी लोगों की भीड़ की सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची और लाठी चार्ज करते हुए वहां से खदेड़ने का काम किया। सब्जी बेचने वाले दुकानदारों को भी फटकार लगाते हुए कहा कि जब सभी को हिदायतें दी गई हैं कि भीड़ जमा नहीं करनी है, इसके बावजूद क्यों ऐसी लापरवाही बरती जा रही है। वहीं यातायात पुलिस की तरफ से लॉक डाउन तोड़ने वाले 150 चालकों का चालान किया गया। कई वाहनों को इंपाउंड भी किया गया। बुलेट चालक का 16 हजार का चालान किया गया। एसपी शशांक कुमार सावन ने बताया कि कोरोना वायरस को लेकर सरकार की तरफ से लागू किए गए नियमों का मजाक उड़ाने वाले लोगों के खिलाफ पुलिस सख्ती से पेश आ रही है। बॉक्स

खाली हो गया आइसोलेशन वार्ड

जिला नागरिक अस्पताल के पीएमओ डॉ. ओमप्रकाश ने बताया कि अस्पताल में 100 बेडों का आइसोलेशन वार्ड बनाया है। अब तक 16 लोगों के सैंपल भेजे गए हैं, जो निगेटिव आए हैं। अब आइसोलेशन वार्ड में कोई संदिग्ध को नहीं रखा हुआ है। विदेशों से जिले में आए लोगों से अपील की जा रही है किसी को कोई लक्षण हो तो वे जांच के लिए सिविल अस्पताल पहुंचे। इसमें किसी भी तरह की लापरवाही न बरतें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस