जागरण संवाददाता, कैथल :

करनाल रोड पर नया रेलवे स्टेशन के नजदीक किराए के भवन में चल रहे जिला श्रम विभाग के कार्यालय पर मालिक ने ताला जड़ दिया। भवन मालिक का कहना है कि पिछले दस महीने से एक भी पैसा किराया का नहीं मिला है। 92 हजार 600 रुपये की राशि बनती है। कई बार वे कर्मचारियों व अधिकारियों से इस बारे में मिल चुके हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। इस कारण ऐसा कदम उठाने के लिए मजबूर होना पड़ा।

ताला लगने के बाद विभाग का स्टाफ बाहर खड़ा रहा। यहां मजदूरी की कॉपी रिन्यू करवाने सहित अन्य कामकाज के लिए आए, लेकिन कर्मचारियों ने कार्यालय को ताला लगने की बात कहते हुए काम नहीं होने की बात कह वापस लौटा दिया। मामले को लेकर विभाग के डिप्टी डायरेक्टर ने मालिक से फोन पर बातचीत की। इसके बाद कर्मचारियों ने एक ई-मेल उच्चाधिकारियों को भेजी। डिप्टी डायरेक्ट ने सोमवार तक किराए की राशि देने का आश्वासन दिया। इसके बाद मालिक ने ताला खोल दिया। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि सोमवार शाम तक खाता में पैसे नहीं आए तो वे मंगलवार सुबह फिर से ताला लगा देंगे।

बाक्स-

दस माह पहले ही किराए के भवन

में शिफ्ट हुआ था कार्यालय

जिला श्रम विभाग का कार्यालय दस माह पहले ही यहां शिफ्ट हुआ था। इससे पहले यह कार्यालय कमेटी चौक पर पुराना एसडीएम भवन में था। वहां भवन खंडहर होने के बाद कार्यालय को बदला गया था। शुरूआत से लेकर आज तक एक भी पैसा मालिक को नहीं मिला है। कर्मचारियों का कहना है कि कई बार इस बारे में ई-मेल भेजी जा चुकी हैं, लेकिन अभी तक अधिकारी से ही कोई आदेश नहीं आए हैं तो वे किराया कहां से देंगे। भवन मालिक ने कहा कि दो पैसों की बचत को लेकर उन्होंने बिल्डिग किराए पर दी थी, जब उसे लाभ ही नहीं होगा तो फिर किराए पर देने का फायदा क्या हुआ।

बाक्स- बिना कामकाज के वापस लौटे

खानपूर गांव निवासी मूर्ति देवी व चंद्रपति मजदूर की कॉपी को रिन्यू करवाने के लिए श्रम विभाग कार्यालय पहुंची। यहां देखा तो ताला लगा हुआ था। बाहर खड़े कर्मचारियों से काम को बोला तो कर्मचारियों ने जबाव दिया कि जब ताला खुलेगा तभी तो वे काम कर पाएंगे। इसी तरह करीब 10 से 15 महिलाएं व पुरुष बिना कामकाज के ही वापस लौट गए। दूर-दराज के गांव से आए लोगों का कहना है कि भीषण गर्मी के इस मौसम में यहां आने के बाद कोई काम नहीं हो रहा है।

विभाग की तरफ से जिलेभर में एक लाख के करीब मजदूरों को पंजीकृत किया गया है। रोजाना किसी न किसी गांव से मजदूरी की कॉपी रिन्यू करवाने, सिलाई मशीन सहित अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ लेने को लेकर मजदूर यहां पहुंच रहे हैं।

बाक्स-

भवन मालिक सत्यवान शेरगढ़ ने कहा कि दस माह से किराया नहीं मिलने पर ताला लगाया है। अब सोमवार तक का समय दिया गया है, यदि राशि नहीं मिली तो फिर से ताला लगाया जाएगा।

बाक्स- कोई जानकारी नहीं थी

विभाग के डिप्टी डायरेक्टर सुरेंद्र पठानिया ने कहा कि किराया नहीं मिलने के बारे में जानकारी उनके नोटिस में नहीं थी। भवन मालिक से बात हो गई है। सोमवार शाम तक खाता में राशि डलवा दी जाएगी।

बाक्स- जांच की जाएगी

डीसी डॉ. प्रियंका सोनी ने कहा कि मकान मालिक को किराया क्यों नहीं दिया गया है, इसे लेकर जांच की जाएगी कि लापरवाही कहां हुई है। इसके बाद रिपोर्ट मिलने पर आगामी कार्रवाई की जाएगी। ----------

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप