संवाद सहयोगी, कलायत :

श्री कपिल मुनि महिला कॉलेज में शुक्रवार को प्रतिभा खोज प्रतियोगिता आयोजित हुई। कार्यक्रम में भाजपा किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष अजीत चहल मुख्यातिथि के रूप में मौजूद रहे। अजीत चहल ने कहा कि भगवान श्री कपिल मुनि ने अपनी माता देवहुति को सांख्य दर्शन का ज्ञान करवाया था। इस ऐतिहासिक पहलु को प्रदेश मुख्यमंत्री मनोहर लाल हमेशा प्रभावित रहे हैं। विश्व पटल पर कलायत को खास पहचान देने के लिए सीएम ने न केवल करोड़ों रुपये की विकास योजनाओं को इस इलाके की धरती पर मूर्त रूप दिया है बल्कि बेटियों को महिला कालेज के रूप में अनमोल सौगात दी है। महाविद्यालय घर द्वार पर बहु-बेटियों को पढ़ने-लिखने और आगे बढ़ने का अवसर प्रदान कर रहा है। प्राचार्य डॉ. ऋषिपाल बेदी, श्री कपिल मुनि धाम पुजारी कृष्ण गौतम, अनाज मंडी प्रधान राजेंद्र राणा, अग्रवाल संघर्ष समिति प्रदेशाध्यक्ष बीडी बंसल, प्रोफेसर शीशपाल बेदी और दूसरे गणमान्य लोगों के साथ मां सरस्वती प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर समारोह का आगाज किया। प्राचार्य डॉ. ऋषिपाल बेदी ने कहा कि भारत की पहचान कर्मयोगी नागरिकों के रूप में है। भारत देश में 66 प्रतिशत आबादी युवाओं की है

सांस्कृतिक कार्यक्रमों की कड़ी में छात्राओं ने कला मंच पर जमकर धमाल मचाया। एकल-सामूहिक नृत्य, रागिनी, भजन, नाटक और दूसरी प्रस्तुतियों पर छात्राओं की पकड़ ने यह साफ कर दिया कि आज बेटियां कहीं किसी से पीछे नहीं हैं। अपनी प्रस्तुतियों के जरिये छात्राओं ने देश-प्रदेश की संस्कृति के अतीत को हू-ब-हू दर्शकों के समक्ष पेश किया। प्रभावपूर्ण प्रस्तुतियों के कारण निरंतर पंडाल में मुख्य अतिथि, विशिष्ठ मेहमान, गणमान्य लोग और छात्राएं कला प्रदर्शन करने वाली छात्राओं का उत्साह वर्धन करती रही।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप